पिछला

ⓘ ये धर्मा हेतु एक प्रसिद्ध संस्कृत मन्त्र है जो प्राचीन काल में बहुत प्रचलित थ। यह चैत्यों, मूर्तियों, आदि में प्रायः मिलता है। यह मन्त्र निम्नलिखित है- ये धर्मा ..


                                               

धरम पुर, मुरादाबाद

भारत की जनगणना अनुसार यह गाँव, तहसील मुरादाबाद, जिला मुरादाबाद, उत्तर प्रदेश ...

ये धर्मा हेतु
                                     

ⓘ ये धर्मा हेतु

ये धर्मा हेतु एक प्रसिद्ध संस्कृत मन्त्र है जो प्राचीन काल में बहुत प्रचलित थ। यह चैत्यों, मूर्तियों, आदि में प्रायः मिलता है।

यह मन्त्र निम्नलिखित है-

ये धर्मा हेतु-प्रभवा हेतुं तेषां तथागतो ह्यवदत् तेषां च यो निरोध एवं वादी महाश्रमण

अर्थ: जो घटनाएँ हेतु से उत्पन्न होतीं हैं, तथागत ने उन घटनाओं के हेतु कारण बताये हैं और उनका जो निरोध रोकने का उपाय है उसे भी बताया है- ऐसा महाश्रमण कहते हैं।

                                     
  • ग व च क थ जब अरब न इस पर न र ण यक व जय प र प त कर ल त अपन धर म क रक ष ह त अन क जरथ स त धर म वल ब सम द र क र स त भ ग न कल और उन ह न भ रत
  • ज ल भ ज क त उनक असल यत पत चलन पर ससम म न र ह क य अकबर - ग र दर शन ह त स वय चलकर आए तथ आम जनत क स थ न च ब ठ ल गर छक ब द ध श ह - म गल क
  • ईश वर एक ह और समय - समय पर म नवज त क श क ष त करन ह त वह प थ व पर अपन अवत र क भ जत ह धर म क आर भ क क ल स ह भ रत य उप - मह द व प बह ई इत ह स
  • ह त व ध - व ध न द न, धर म स स ध अवगत कर द य उन ह म नवज त क प रथम ईश चर य द त क पद प गम बर पर भ आस न क य आदम क प र रम भ क सन त न धर म
  • ईस ई धर म मस ह य क र श च यन प र च न यह द पर पर स न कल एक श वरव द धर म ह इसक श र आत प रथम सद ई. म फल स त न म ह ई, ज सक अन य य ईस ई
  • ब द ध धर म भ रत क श रमण परम पर स न कल ह आ एक धर म और मह न दर शन ह ईस प र व 6ठ शत ब द म ग तम ब द ध द व र ब द ध धर म क स थ पन ह ई ह एव त र प टक
  • व ध र म क उच चपदध र य स सरक र स स थ न व र ज य क प रत न ध त व करन ह त श सन द श त ल ग क प थक करण क स द ध न त ह यह एक आध न क र जन त क एव स व ध न
  • व द क धर म व द क वर ण श रम व द क सभ यत क म ल थ ज भ रत य उपमह द व प म हज र वर ष प र व स ह आध न क ह न द धर म इस ध र म क व यवस थ पर आध र त
  • म नत ह ग रमत क परच र ब क 9 ग र ओ न क य 10व ग र ग ब न द स ह ज न य परच र ख लस क स प और ज ञ न ग र ग र थ स ह ब क स ख य ओ पर अम ल करन क
  • क अन तर ह उस स वर ल क कहत ह ह द धर म म स स क त शब द स वर ग क म र पर वत क ऊपर क ल क ह त प रय क त ह त ह यह वह स थ न ह जह प ण य
  • प रम ख बन गए, नयव द ग ण ह गय स द धस न न अन क न त क पर भ ष अन क अन त धर म यत र स ऽन क न त नयव द क आध र पर क ह नयव द अन क न त क म ल आध र ह
  • इन धर म क त लन करन ह त इनक प ष ठभ म ख ग लन क आवश यकत अब र हम क पर व र क त न धर म मर स थल म प द ह य ह य धर म ह और ह न द धर म म लत
                                     
  • श सनक ल म 12 स ल क ल ब अक ल आन क क रण, अपन चर य क न र व ह करन ह त आच र य भद रब ह क स घ ज सम 12, 000 ज न स त थ दक ष ण भ रत क ओर आय थ
  • पर म ग ल य सल तनत क द र न 1556 - 1707 ल ग क म नव ध क र क ह फ ज त ह त स ख क स घर ष उस समय क हक मत स थ इस क रण स स ख ग र ओ न म स ल म म गल
  • यह द धर म व श व क प र च नतम धर म म स ह तथ द न य क प रथम एक श वरव द धर म म न ज त ह यह स र फ एक धर म ह नह बल क प र ज वन पद धत ह
  • छ ट थ एक द न धर म क स वप न आय क उसक ब ट एक बह त बड सम र ट बन ग उसक ब द उस र ज ब न द स र न अपन र न बन ल य च क धर म क षत र य क ल स
  • ह न द धर म द व - द वत ओ प रवर त त धर म ह इसक एक आध र व द द धर मग रन थ ह ज नक स ख य बह त बड ह य सब द म व भक त ह - इस श र ण क ग रन थ
  • ब द क अपन पत र म ल ख ह ईस ई धर म क अन य सभ ध र म क व श व स क ऊपर वर चस व स ब त करन ह त ह व श व धर म - मह सभ क स गठन क य गय थ ....
  • अगस त 1953 क स व म स प रभ व त क छ भक तगण न अध ययन और व च र व मर श ह त एक फ रम बन न क न श चय क य स व म ज उस समय उत तरक श म थ उन ह न
  • आश रय ह न क न त ज न क र य क कर म ह सत यस वर प समष ट ह त अर प त कर तव य कर म ह धर म ह दर शन म कर म एक व श ष अर थ म प रय क त ह त ह ज क छ
  • क प र कट य ह ज नक व धत श श वत ह व द क श र त म न ज त ह श रवण ह त ज म ख क पर पर क द य तक ह ध र म क व स स क त क र त य एव व यवह र
  • क र मनकरण ह त सर व ध क ल कप र य ल प यन तरण स क म ह यह प र य: मद र त प रक शन म प रय ग क ज त ह ख सकर क त ब ज क भ रत य धर म स स ब ध त
                                     
  • पर क ष त क र ज य द कर मह प रय ण ह त उत तर ख ड क ओर चल गय और वह ज कर प ण यल क क प र प त ह य र ज पर क ष त धर म क अन स र तथ ब र ह नण क आज ञ न स र
  • उप ध ज क पहल क वल भगव न क ष ण क ह प र प त थ उन ह न सन तन धर म क प रत ष ठ ह त भ रत क च र क ष त र म च र मठ स थ प त क य तथ श कर च र य पद
  • सम ध स म यव द य क ल ए एक त र थ ह भ रत क स स क त क एकत क मजब त करन ह त आद श कर च र य न भ रत क च र द श ओ म च र ध म क स थ पन क उत तर
  • धर मस त र म वर ण श रम - धर म व यक त गत आचरण, र ज एव प रज क कर त तव य आद क व ध न ह य ग ह यस त र क श खल क र प म ह उपलब ध ह त ह
  • प रक र य क आत मस क ष त क र क न म स ज न ज त ह आत म क स क ष त क र ह त य ग, ज ञ न, भक त आद पद धत य प रचल त ह ज सक आव र भ व प र च न क ल म
  • तथ उनस य क त द ष ट ह त ओ क क य न म ह अन म त क क रण - ल ग - ह त क त र व ध पर मर श अन म त क क रण ह त ह पक ष ह त क स ब ध क ज ञ न प रथम
  • स स क र क व वरण ह त द ख - सन तन धर म क स स क र स स क र शब द क अर थ ह - श द ध करण  अर थ त मन, व ण और शर र क स ध र हम र स र प रव त य क
  • क जलमग न ह ज न पर प थ व क न क बन कर भ व व वश वत मन क रक ष करन ह त भगव न न मत स य वत र ल य सम द र म थन क समय द वत तथ अस र क सह यत

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →