पिछला

ⓘ मोरटक्का. उज्जैन से खण्डवा जाने वाली रेलवे लाइन पर मोरटक्का नामक स्टेशन है, मालवा क्षेत्र में श्रीॐकारेश्वर स्थान नर्मदा नदी के बीच स्थित द्वीप पर है। वहां से य ..


                                     

ⓘ मोरटक्का

उज्जैन से खण्डवा जाने वाली रेलवे लाइन पर मोरटक्का नामक स्टेशन है, मालवा क्षेत्र में श्रीॐकारेश्वर स्थान नर्मदा नदी के बीच स्थित द्वीप पर है।

वहां से यह स्थान 10 मील दूर है। यहां ॐकारेश्वर और मामलेश्वर दो पृथक-पृथक लिंग हैं, परन्तु ये एक ही लिंग के दो स्वरूप हैं। श्रीॐकारेश्वर लिंग को स्वयंभू समझा जाता है।

                                     
  • स थ त ह यह भगव न श व क ब रह ज य त र ल गओ म स एक ह यह यह क म रटक क ग व स लगभग 14 क म द र बस ह यह द व प ह न द पव त र च न ह ॐ क
  • प र श वन थ क बड मन ज ञ प रत म ह स द धवरक ट इ द र स ख डव ल इन पर म रटक क न मक स ट शन स ओ क र श वर ह त ह ए अथव सन वद स 6 म ल पर ह यह स द
                                     
  • नद क ब च स थ त द व प पर ह उज ज न स खण डव ज न व ल र लव ल इन पर म रटक क न मक स ट शन ह वह स यह स थ न 10 म ल द र ह यह ॐक र श वर और म मल श वर

शब्दकोश

अनुवाद