पिछला

ⓘ करमचन्द गाँधी. करमचन्द उत्तमचन्द गाँधी भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के पिता थे। वे पोरबन्दर रियासत में प्रधानमंत्री, राजस्थानिक कोर्ट के सभासद, राजकोट में ..

करमचन्द गाँधी
                                     

ⓘ करमचन्द गाँधी

करमचन्द उत्तमचन्द गाँधी भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के पिता थे। वे पोरबन्दर रियासत में प्रधानमंत्री, राजस्थानिक कोर्ट के सभासद, राजकोट में दीवान और कुछ समय तक बीकानेर के दीवान के उच्च पद पर प्रतिष्ठित थे। ये कबा गाँधी के नाम से भी जाने जाते थे।

महात्मा गाँधी की माता पुतलीबाई, करमचंद गाँधी चौथी पत्नी थी। इनके पिता का नाम उत्तमचन्द गाँधी और माँ का नाम लक्ष्मी गाँधी था।

उन दिनों किसी रियासत की दीवानगिरी चैन की नौकरी नहीं थी। पोरबन्दर पश्चिमी भारत की तीन सौ रियासतों में से एक था, जिस पर उन राजाओं ने शासन किया जो मात्र राजकुल में जन्म लेने के कारण और अंग्रेजों की सहायता से सिंहासन पर विराजमान हुए। मनमानी करने वाले राजाओं, सर्वोच्च ब्रिटिश सत्ता के निरंकुश प्रतिनिधि पोलिटिकल एजेंटों और युगों से दबीगकुचली प्रजा के बीच निरापद कर्त्तव्य निर्वाह करने के लिए काफी धैर्य, कूटनीतिक कौशल और व्यावहारिक बुद्धि की जरूरत होती थी। पिता उत्तमचन्द और करमचन्द, दोनों ही कुशल प्रशासक होने के साथ-साथ सच्चे और प्रतिष्ठित व्यक्ति भी थे। वे स्वामिभक्त थे लेकिन अप्रिय और हितकर सलाह देने में भी नहीं हिचकते थे। अपने इस विश्वास पर साहस के साथ अडिग रहने के कारण उन्हें कष्ट झेलने पड़े। शासक की सेना ने उत्तमचन्द गांधी के घर को घेर लिया और उस पर गोले बरसाये। उन्हें रियासत से भागना पड़ा। उनके पुत्र करमचन्द ने भी अपने सिद्धान्तों पर अटल रह कर पोरबन्दर से हट जाना ही पसन्द किया।

                                     
  • म हनद स करमचन द ग ध अक ट बर - जनवर भ रत एव भ रत य स वत त रत आ द लन क एक प रम ख र जन त क एव आध य त म क न त थ व सत य ग रह व य पक
  • क र ष ट रप त म हनद स करमच द ग ध ज न ह ब प य मह त म ग ध क न म स भ ज न ज त ह क जन म द न अक ट बर क ग ध जय त क र प म मन य
  • म हनद स करमच द ग ध क हत य 30 जनवर 1948 क श म क नई द ल ल स थ त ब ड ल भवन म ग ल म रकर क गय थ व र ज श म क प र र थन क य करत थ 30 जनवर
  • म नवम बर क ह आ थ ब न क ग सल - म हनद स करमच द ग ध र ह ण हट ट गद - कस त रब ग ध र हन स ठ - प ड त जव हरल ल न हर सईद ज फ र - सरद र वल लभभ ई
  • इस न म क कई अभ प र य ह - म हनद स करमच द ग ध क हत य - मह त म ग ध क हत य स ब ध ल ख इ द र ग ध क हत य - इ द र ग ध क हत य स ब ध ल ख
  • म हनद स ग ध 23 अगस त 1888 - 18 ज न 1 9 48 म हनद स करमच द ग ध क सबस बड प त र थ उनक त न छ ट भ ई मण ल ग ध र मद स ग ध और द वद स ग ध थ
  • 1949 क उन ह म त य दण ड द य गय ह ल क मह त म ग ध क प त र, मण ल ल ग ध और र मद स ग ध द व र व न मय क दल ल प श क गई थ परन त उन दल ल
  • म त कमल न हर थ इन द र क उनक ग ध उपन म फ र ज ग ध स व व ह क पश च त म ल थ इनक म हनद स करमच द ग ध स न त ख न क और न ह श द क द व र
  • मह त म ग ध क क र ड स थल र जक ट, कभ स र ष ट र क र जध न रह थ मह त म ग ध क प त करमच द ग ध स र ष ट र क द व न थ यह स ग ध ज न अपन
  • आध य त म क न त म हनद स करमच द ग ध क आदर श व श व स एव दर शन स उदभ त व च र क स ग रह क ग ध व द कह ज त ह न ष कर ष: मह त म ग ध 20व शत ब द क
  • और 1982 म न र म त फ ल म ग ध म प कज न प य र ल ल क स क ष प त भ म क अद क थ पर फ ल म क ह न द स स करण म ग ध क क रद र न भ रह ब न क ग सल
  • कस त रब ग ध 1869 - 1944 मह त म ग ध क पत न ज भ रत म ब क न म स व ख य त ह कस त रब ग ध क जन म 11 अप र ल सन 1869 ई. म मह त म ग ध क तरह
  • फ र स वतन त रत कई चरण म म ल यद यप स भ षचन द र बस और म हनद स करमचन द ग ध क व च र अलग - अलग थ ग ध ज न सन म स भ षब ब क र ष ट रभक त
                                     
  • म र च 1930 म ख य न त म हनद स करमच द ग ध Yeh 6 march ko chalu hua श र आत: अगस त म ख य न त म हनद स करमच द ग ध वजह: त र त आज द न ष कर ष: व फल
  • न र म त थ उन ह म ख यत मह त म ल इफ ऑफ म हनद स कर मचन द ग ध अ ग र ज म न म स मह त म ग ध क आठ खण ड म ल ख ज वन क ल ए ज न ज त ह
  • पदच य त कर उस म न स म र ज य क अन त कर द य गय 1939 - म म बई, म हनद स करमच द ग ध ज न उपव स रख कर सव नय अवज ञ आन द लन क प र रम भ क य 1971 - भ रत - प क
  • व यसर य, गवरन र - जनरल एडवर ड फ र द र क क ल न द ल व ड और म हनद स करमच द ग ध ज मह त म ग ध म भ ट र जन त क क द य क र ह ई और नमक क सर वजन उपय ग
  • बड आक र क प रत म ओ क न र म ण क य उनक क र य म म हनद स कर मचन द ग ध र न लक ष म ब ई, स व म व व क नन द और वल लभ भ ई पट ल क प रत म ए भ
  • प र णत क म नक क प र नह कर प एग ड भ मर व अ ब डकर म हनद स करमच द ग ध भगत स ह म गल प ड र म प रस द ब स म ल र न लक ष म ब ई चन द रश खर आज द
  • म हनद स करमच द ग ध क र ष ट रप त क उप ध द त ह ए स व ध न सभ क ब ठक श र क त बह त द र तक करतल ध वन ह त रह अस म बल क ब हर भ ड मह त म ग ध क
  • स बह त हद तक म ल ख त ह इस उप ध क प रम ख हस त य ज स म हनद स करमच द ग ध और ज य त र व फ ल क ल ए आम त र पर प रय क त क य ज त ह कई स र त
  • ज व ल - परच न कह न - स ग रह, 1942 म कड व - म ठ ब त न म स प रक श त म हनद स कर मच द ग ध : एक प र रक ज वन स स क त क स क र त और स भ वन भ षण लगभग 55 फ ल म
  • म खनल लज न व द य र थ ज क स थ म थ ल शरण ग प त और मह त म ग ध स म ल क त क मह त म ग ध द व र आह त सन क असहय ग आ द लन म मह क शल अ चल स
  • र प म यह भ जप र क व क स ह च क थ म ब र स टर म हनद स करमचन द ग ध यह आकर रह और भ रत य क दश और कठ न इय क समझ उन ह क न न
                                     
  • उन ह न म गल सम र ट ह म य क मकबर क द र क य और र ज घ ट पर म हनद स करमच द ग ध क श रद ध जल अर प त क फ र ओब म पर व र क नई द ल ल म र ष ट रपत
  • व श वक श म ग ध क व च र कत क स पष ट करन ह त म हनद स कर मच द ग ध - 1 इ द र य न भवव द ज ञ नम म स क आल चन म हनद स कर मच द ग ध - 2 उद रत व द
  • मह मन मह मह प ध य य प ड त र म वत र शर म सन कर मव र म हनद स करमच द ग ध सन मह मन प ड त मदन म हन म लव य सन र य बह द र
  • 1917 म क ग र स न त म हनद स करमच द ग ध च प रण आय थ ज यह ब ब कहल य और मह त म ग ध बन कर ल ट ग ध ज न 15 अप र ल 1917 क च प रण आगमन
  • उसक य जन भ रत य र जन त म दखल द न क थ उस स धक क न म थ - म हनद स करमच द ग ध अपन र जन त क ग र ग प ल क ष ण ग खल क कहन पर वह भ रत क आत म क
  • द ल ल म यम न नद क पश च म क न र पर मह त म ग ध क सम ध स थ त ह क ल स गमरमर स बन इस सम ध पर उनक अ त म शब द ह र म उद ध त ह अब यह

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →