पिछला

ⓘ चित्रण रेखांकन, चित्रकारी, छायांकन या कला के अन्य कार्यों के रूप में प्रस्तुत प्रदर्शित मानसदर्शन का एक रूप है, जिसे ग्राफ़िक रूप से दृश्य प्रस्तुति देकर ऐन्द्र ..


                                               

प्रारूपकार

प्रारूपकार या नक्शानवीस या ड्राफ्ट्समैन वह व्यक्ति है जो रेखाचित्र बनाने में ...

                                               

प्रदिश

प्रदिश या टेंसर वे ज्यामितीय वस्तुएं हैं जो सदिशों, अदिशों तथा प्रदिशों के बी...

चित्रण
                                     

ⓘ चित्रण

चित्रण रेखांकन, चित्रकारी, छायांकन या कला के अन्य कार्यों के रूप में प्रस्तुत प्रदर्शित मानसदर्शन का एक रूप है, जिसे ग्राफ़िक रूप से दृश्य प्रस्तुति देकर ऐन्द्रिक जानकारी की स्पष्ट व्याख्या करने या निर्धारित करने के लिए बनाया जाता है।

                                     

1.1. इतिहास प्रारंभिक इतिहास

चित्रण के आरंभिक रूपों में प्रागैतिहासिक गुफा चित्रकारियां थी। मुद्रणालय के आविष्कार से पहले पुस्तकों को हाथ से चित्रित किया जाता था। चीन और जापान में 8 वीं सदी से चित्रण का उपयोग किया जा रहा है, लेखन का साथ देने के लिए पारंपरिक रूप से लकड़ी के सांचे बनाए जाते हैं।

                                     

1.2. इतिहास 15 वीं सदी से 18 वीं सदी तक

15 वीं सदी के दौरान, लकड़ी के सांचे के चित्रणों द्वारा चित्रित पुस्तकें उपलब्ध थीं। 17 वीं और 16 वीं सदी के दौरान उत्कीर्णन और नक़्क़ाशी चित्रणों के पुनर्निर्माण के लिए उपयोग की जाने वाली मुख्य प्रक्रियाएं थी। 18 वीं सदी के अंत में, पाषाणलेखन द्वारा बेहतर चित्रण पुनर्निर्मित किए गए। इस युग के सबसे उल्लेखनीय चित्रकार विलियम ब्लेक थे, जिन्होंने अपने चित्रणों को राहत नक्काशी के माध्यम से प्रस्तुत किया।

                                     

1.3. इतिहास 19 वीं सदी आरंभ से मध्य तक

आरंभिक सदी के उल्लेखनीय चेहरों में जॉन लीच, जॉर्ज क्रुइकशैंक, डिकेन के चित्रकार हैबलोट नाइट ब्राउन और फ्रांस में, होनोरे डाउमियर थे। इन्हीं चित्रकारों ने व्यंग्य और पूर्ण काल्पनिक कथा वाली पत्रिकाओं में योगदान दिया था, लेकिन दोनों ही क्षेत्रों में पात्र-चित्रकारी की मांग थी जिसने सामाजिक प्रकारों और वर्गों को संपुटित या हास्यानुकृत किया।

क्रुइकशैंक की कॉमिक अल्मानेक 1827 -1840 की आरंभिक सफलता पर सवार 1841 में संस्थापित ब्रिटिश विनोदी पत्रिका पंच ने 20 वीं सदी में उच्च गुण्वत्ता वाले हास्य चित्रकारों को निर्विघ्नता के साथ नियुक्त किया, जिनमें सर जॉन टेनियल, द डेल्ज़ियल ब्रदर्स और जॉर्जेस डु मौरियर शामिल थे। इसने हास्य चित्पर निर्भरता से लेकर परिष्कृत सामयिक अवलोकनों तक लोकप्रिय चित्रणों में क्रमिक बदलाव का इतिहास बनाया. इन सभी कलाकारों को पारंपरिक ललितकला- कलाकारों के रूप में प्रशिक्षित किया गया, लेकिन इन्हें प्राथमिक ख्याति चित्रकार के रूप में मिली. पंच और इसी प्रकार की पत्रिकाएं जैसे द पारिसियन ले वोलेयोर को इस बात का एहसास हुआ कि लिखित सामग्री की तरह अच्छे चित्रण की भी कई प्रतियां बेची जा सकती हैं।

                                     

1.4. इतिहास चित्रण का स्वर्ण युग

अमेरिकी "चित्रण का स्वर्ण युग" 1880 के दशक से प्रथम विश्व युद्ध के बाद के कुछ समय तक को माना जाता है यद्यपि "स्वर्ण युग" के बाद के कई चित्रकारों का करियर इसके बाद कुछ दशको6 तक और सक्रिय रहा. जहां तक यूरोप की बात है, इसके कुछ दशक पहले समाचारपत्र, जन बाज़ार की पत्रिकाएं और चित्रित पुस्तकें सार्वजनिक खपत की प्रमुख मीडिया बन चुकी थीं। मुद्रण प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में आए सुधारों ने चित्रकारों को रंग और नई प्रतिपादन तकनीकों के साथ प्रयोग करने का मुक्त अवसर प्रदान किया। इस अवधि में चित्रकारों के एक छोटे समूह ने धन और प्रसिद्धि भी अर्जित की. उनके द्वारा बनागई इमेजरी उस समय के अमेरिकी आकांक्षाओं का एक चित्र थी।

यूरोप में आरंभिक और बाद के 19वीं सदी को एक सूत्र में जोड़ने वाले एक सफल कलाकार गुस्तावे डोरे थे। 1860 के दशक में लंदन की गरीबी पर बनाया गया इनका निराशाजनक चित्रण कला के क्षेत्र में सामाजिक कमेंटरी का एक प्रभावशाली उदाहरण था। एडमंड डुलक, आर्थर रैखम, वाल्टर क्रेन और के नीलसन इस शैली के उल्लेखनीय प्रतिनिधि थे, जो अक्सर नियो-मिडियावेलिज़्म के लोकाचार को व्यक्त करती थी और पौराणिक और परिकथाओं के विषयों पर आधारित होती थी। इसके विपरीत अंग्रेज चित्रकार बीट्रिक्स पॉटर के रंगीन बच्चों के चित्रण जानवरों के जीवन के प्राकृतिक अवलोकन पर आधारित थे।

"स्वर्ण युग" के चित्रकारों के कार्य की संपन्नता और सद्भाव पर 1890 में ऑबरे बीयर्ड्स्ले जैसे कलाकरों, जो लकड़ी के सांचे और तिमिरचित्र, पूर्वानुमानित कला नौबढ़ और लेस नेबिस द्वारा प्रभावित कम फैले हुए श्याम और श्वेत शैली की ओर वापस लौट गए थे, ने सवालिया निशान उठाए. इस अवधि के अमेरिकी चित्रण का विकास ब्रैंडीवाइन घाटी परम्परा में हुआ, जिसकी शुरुआत हॉवर्ड पायले ने की और इसके बाद उनके छात्रों ने इसे आगे बढ़ाया, जिसमें एन. सी वीयथ, मैक्सफ़ील्ड पारिश, जेसी विलकोक्स स्मिथ और फ्रैंक स्कूनोवर शामिल थे।

सैंटियागो मर्टिनेज़ डेलगाडो, जिहोंने एस्क्वायर पत्रिका के लिए 1930 में कार्य किया था, ने लैटिन अमेरिका में एक आंदोलन की शुरुआत की जबकि शिकागो में कला के एक छात्और बाद में उनके मूल स्थान कोलंबिया में वीडा पत्रिका के साथ, फ्रैंक लॉयड राइट के अनुयायी मार्टिनेज़ ने कला डेको शैली में कार्य किया। इसके अलावा 1930 के दशक में ब्रीटिश स्वतंत्र चित्रकार आर्थर रैग के कार्य में प्रचार कला और अभिव्यक्तिवाद की झलक देखी गई थी। उनकी अस्वाभाविएक लय आकृतियों ने राजनीतिक पोस्टरों में प्रयुक्त ब्लॉक-मुद्रण तकनीक का सुझाव दिया, लेकिन पोस्टर राजनीतिक आकार का सुझाव दिया है ब्लॉक के लिए इस्तेमाल की तकनीक मुद्रण, लेकिन इस समय तक फ़ोटोग्राफ़िक के माध्यम से कलाकृतियों को मुद्रण प्लेटों में स्थानांतरित करने की तकनीक व्रैग द्वारा उसके कलम और स्याही से निर्मित कार्यों तक विकसित हो गई थी।

                                     

2. तकनीकी चित्रण

तकनीकी चित्रण तकनीकी प्रवृति की जानकारी को दृष्टिगत रूप से संचारित करने के लिए उपयोग किए जाने वाले चित्रण को कहते हैं। तकनीकी चित्रण तकनीकी रेखांकन और आरेखण का अंश हो सकता है। तकनीकी चित्रण के सामान्य उद्देश्यो में "ऐसी अर्थपूर्ण छवियां उकेरना है जो दृश्य चैनल के माध्यम से कुछ विशिष्ट जानकारी मानव पर्यवेक्षक तक प्रभावी रूप से पहुंचा सके".

तकनीकी चित्रण आमतौपर गैर-तकनीकी दर्शकों के समक्ष विषयों का वर्णन और उनकी व्याख्या करता है। इसलिए दृश्य छवि का आयाम और अनुपात के सन्दर्भ में सटीक होना आवश्यक है और उसे "दर्शकों की रुचि और समझ बढ़ाने के लिए वस्तु क्या है और उसका क्या कार्य है, इसका समग्र प्रभाव प्रदान करना चाहिए".

                                     

3. चित्रण कला

आज, पुस्तकों, पत्रिकाओं, पोस्टरों आदि में चित्रण के रूप में प्रयुक्त मूल चित्रकला को एकत्रित करने और उसकी प्रशंसा करने वालों की संख्या में वृद्धि निरंतर वृद्धि हो रही है। आदिकाल के चित्रकारों को समर्पित कई संग्रहालय प्रदर्शनियां, पत्रिकाएं और आर्ट गैलरियां लगाई जाती हैं।

दृश्य कला के क्षेत्र में, कभी कभी चित्रकारों को ललित कलाकारों और ग्राफ़िक डिज़ाइनरों की अपेक्षा कम महत्व दिया जाता है। लेकिन कंप्यूटर गेम और कॉमिक उद्योग के विकास के फलस्वरूप, चित्रण लोकप्रिय और लाभप्रद कला कृति बनती जा रही है जो अन्य दोनों से अधिक वृहद बाज़ार में कब्जा जमा सकती है, विशेषकर कोरिया, जापान, हाँग काँग और अमेरिका में. विख्यात पत्रिका चित्रकारों के मूल चित्रण कला को निलामी में कई हजार यू एस डॉलर में बिकते हुए देखा जा सकता है। नॉर्मन रॉकवेल का कार्य इन उच्च मानकों से भी कई बढ़कर है। इनकी पेंटिंग "ब्रेकिंग होम टाइज़" 2006 में सोदबी की निलामी में 15.4 मिलियन यू एस डॉलर में बिकी थी। सर्वाधिक विख्यात कलाकार जैसे गिल एल्वग्रेन और अल्बर्टो वर्गास को भी निलामी में अत्यधिक ऊंचे दाम मिलें, हेरिटेज़ की निलामी में एल्वग्रेन के कई कार्य 100.000 यू एस डॉलर से अधिक मूल्य में बिके.

                                     
  • ज न म च त रण ज न म क सभ ग णस त र क स रचन त मक व प रक र य त मक स गठन ज न म च त रण य ज न म म प ग कहल त ह
  • प र ग र म क क ड CAD प र ग र म कहत ह क छ प रक र व स त च त रण इ ज न यर च त रण प ट न ट च त रण आद व स त आर खण Architectural drawing इ ज न यर आर ख
  • व क रण - च त रण य र ड य ग र फ च क त स प रत ब म बन क वह तकन क ह ज द ष य - प रक श क अत र क त अन य व द य तच म बक य व क रण ज स एक सर क उपय ग करत
  • म डण च त रण म ण जनज त क मह ल ओ द व र बन य ज न व ल द व र और फर श च त रकल क एक प रक र ह म ण जनज त र जस थ न और मध य प रद श क क छ ह स स
  • क स व यक त क स क ष प त स ह त य क पर चय क उसक चर त र - च त रण कहत ह उस ज वन चर त, चर त र, आपब त ज वन कह न ज स कई न
  • च त र क म ध यम स व य ग य कसन अथव उपह स करन क स म न य व ध क व र प - च त रण य क र क चर Caricature कहत ह यह म लत फ र च क शब द ह और फ र च म
  • म म ग र फ स तन च त रण म नव स तन क पर क षण क ल ए कम व स त र त म त र म एक स - र आम त र पर 0.7 एमएसव क आसप स क उपय ग क प रक र य ह और इसक उपय ग
  • क स न ह त ह इस च त रकल क च त रण क वल प र ष ह कर सकत ह ख त क द खर ख क अत र क त लख ड स म न य च त रण ज स र ग भरन क क र य ह प थ र
  • पढ ई क थ प ट प द क रचन ओ म ड नम र क क ग र म य ज वन क स दर च त रण ह मह य द ध क द न म ल ख गय म तक क स म र ज य म द शभक त क
  • बन न क एक पर पर गत व ध न ट कन क ह और आज भ बह प रचल त ह ट पर च त रण क म ख य व श षत यह ह क इसम क स प रक र क स श ल षय क त पद र थ ब इ ड ग
                                     
  • न क ल इ च उस स क क दमनक र श सन क द र न ज वन क कठ र पर स थ त य क सज व च त रण करन क ल ए ज न ज त ह अक ट बर क क गय एक घ षण क अन स र
  • फ ट लम ब तथ फ ट ऊ च ह इस म र त म भगव न श कर क त न र प क च त रण क य गय ह इस म र त म श कर भगव न क म ख पर अप र व गम भ रत द खत ह
  • व भ न न तकन क म प र गत ह न म मदद क उन ह न प रत क त च त रण एव प र क त क द श य च त रण स श र आत क ज त र त ल ग क नज र म आई झ ग स झ
  • द व र ह ह त ह तथ प त र क ग ण - द ष क उनक चर त र च त रण कह ज त ह चर त र च त रण स व भ न न चर त र म स व भ व कत उत पन न क ज त ह स व द
  • क द न कहन अध क सम च न ह ग स ह त य म गद य क प रय ग ज वन क यथ र थ च त रण क द य तक ह स ध रण ब लच ल क भ ष द व र ल खक क ल ए अपन प त र उनक
  • क त ह इस क त म र म क भ ई लक ष मण क पत न उर म ल क व रह क ज च त रण ग प त ज न क य ह वह अत यध क म र म क और गहर म नव य स व दन ओ और भ वन ओ
  • ध वन - य जन उनक छ द म पग - पग पर प र प त ह त ह श ग र क उद त त र प क च त रण द व न क य ह द व क त क ल ग र थ क स ख य स तक म न ज त ह
  • न आव प रक त - च त रण - हर औध ज क प रक त च त रण सर हन य ह अपन क व य म उन ह जह भ अवसर म ल ह उन ह न प रक त क च त रण क य ह और उस
  • क त स य ब स क 1864 - 1913 न अपन कव त ओ म उक र न जनत क क र त क र स घर ष क च त रण क य अक ट बर, सन 1917 क मह न सम जव द क र त क ब द उक र न स ह त य
  • म ज न गय इसम प र न क षक - ज वन और उसक व र ध द ष ट क ण क स दर च त रण ह आ ह उन ह न ड नम र क क ग र म ण ज वन पर बह त अच छ ल ख नय म ह वर
                                     
  • अ क त क य ह मह द व क र ख च त र क यह व श षत भ ह क उनम चर त र च त रण क तत व प रम ख रह ह और कथ य उस क एक ह स स म त र ह इनम ग भ र ल क
  • क मवद त य क प त र क च त रण व श षत द खन क म लत ह प र च न समय म इस कल क च त रक र व भ न न द व - द वत ओ क च त रण इस कल द व र ल ग क पट
  • ज ल म ठ स द ए ज त ह इस तरह प र मचन द क र न त क व य पक पक ष क च त रण करत ह ए तत क ल न सभ र जन त क एव स म ज क समस य ओ क कथ नक स ज ड द त
  • क ष त र म अन प रय ग क अध ययन क य ज त ह प र य: इसम च क त स य च त रण medical imaging एव र ड य च क त स radiotherapy आत ह प रय ग स
  • स र ड न य क क स न क स र प म च त रण अवश य क य ह अपन द श क ल ग वह क र त - र व ज तथ कथ ओ क च त रण इन ह न म र म क और सज व ढ ग स क य
  • ह इसक रचय त ह ल य श ल व हन ह इस क व य म स म न य ल कज वन क ह च त रण ह अत: यह प रगत व द कव त क प रथम उद हरण कह ज सकत ह इसक समय ब रहव
  • सछ द र छ ट ल ट लटक ए ह प रक त च त रण - रत न कर ज अपन प रक त च त रण म अत य त सफल रह ह उनक प रक त - च त रण पर र त क ल न प रभ व स पष ट र प स
  • क ह यह ब द ध धर म स सम बन ध त च त रण एवम श ल पक र क उत क ष ट नम न म लत ह इनक स थ ह सज व च त रण भ म लत ह यह ग फ ए अज त न मक ग व
  • महत त वप र ण थ पर व द म उसक र प इतन अम र त ह क उसक प र क त क च त रण म श क ल ह म न ज त ह क वर ण क स थ त अन य व द क द वत ओ क अप क ष
  • सम न ज ड व ब ध थ नक ल, क अर थ ह परम व द वत मह भ रत म नक ल क च त रण एक बह त ह र पव न, प र म य क त और बह त स दर व यक त क र प म क गई ह

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →