पिछला

ⓘ आस्तिक दर्शन भारतीय दर्शन परम्परा में उन दर्शनों को कहा जाता है जो वेदों को प्रमाण मानते थे। भारत में भी कुछ ऐसे व्यक्तियों ने जन्म लिया जो वैदिक परम्परा के बन् ..

                                     

ⓘ आस्तिक दर्शन

आस्तिक दर्शन भारतीय दर्शन परम्परा में उन दर्शनों को कहा जाता है जो वेदों को प्रमाण मानते थे।

भारत में भी कुछ ऐसे व्यक्तियों ने जन्म लिया जो वैदिक परम्परा के बन्धन को नहीं मानते थे वे नास्तिक कहलाये तथा दूसरे जो वेद को प्रमाण मानकर उसी के आधापर अपने विचार आगे बढ़ाते थे वे आस्तिक कहे गये।

आस्तिक दर्शन के छः मुख्य विभाग हैं -

  • मीमांसा दर्शन
  • सांख्य दर्शन
  • न्याय दर्शन
  • वैशेषिक दर्शन
  • वेदान्त दर्शन
  • योग दर्शन

छः मुख्य विभाग होने के कारण इसे षड्दर्शन भी कहा जाता है।

                                     
  • व आस त क कह गय भ रत म न स त क कह ज न व ल व च रक क च र ध र य म न गय ह - आज व क, ज न दर शन च र व क, तथ ब द ध दर शन आस त क दर शन न स त कत
  • अन स र क वल च र व क दर शन ज स ल क यत दर शन भ कहत ह भ रत म न स त क दर शन कहल त ह और उसक अन य य न स त क कहल त ह आस त क शब द, अस त स बन
  • ल ए भक त क ल द ख भ रत म दर शन उस व द य क कह ज त ह ज सक द व र तत व क ज ञ न ह सक तत व दर शन य दर शन क अर थ ह तत व क ज ञ न म नव
  • च र व क दर शन एक भ त कव द न स त क दर शन ह यह म त र प रत यक ष प रम ण क म नत ह तथ प रल क क सत त ओ क यह स द ध त स व क र नह करत ह यह दर शन व दब ह य
  • ह भ रत य दर शन म व द क प रम णत क न म नन व ल दर शन क न स त क कह गय इसक व पर त व द म आस थ रखन व ल दर शन आस त क दर शन कहल य ज नक
  • व स त त व वरण क ल य भ रत य दर शन द ख व स त समस त दर शन क उत पत त व द स ह ह ई ह फ र भ समस त भ रत य दर शन क आस त क एव न स त क द भ ग म
  • म व श व क क रण र प म ईश वर क सत त स द ध क ज त ह गत म लक य क त - आर स त न इसक प रय ग आस त कत आस त क दर शन आस त क भगव न अन श वरव द
  • भ रत य दर शन म ईश वर, ईश वर ज ञ परल क, आत म आद अद ष ट पद र थ क अस त त व म व श षत: ईश वर क अस त त व म व श व स क न म आस त कत ह प श च त य
  • मत क न र त म यव द कह गय ह भ रत य दर शन म न र त म यव द क व श ष ट स थ न ह अन य सभ आस त क भ रत य दर शन आत मव द ह एक ब द ध धर म ह न र त म यव द
  • न त य न म त त क तथ आद वचन क अन स र भ रत य आस त क दर शन क म ख य प र ण म म स दर शन ह म म स दर शन स लह अध य य क ह ज सम ब रह अध य य क रमबद ध
                                     
  • आस त क षड दर शन क प रवर तक आच र य क र प म व य स, ज म न कप ल, पत ज कण द, ग तम आद क न म स स क त स ह त य म अमर ह अन य आस त क दर शन म
  • य गदर शन छ आस त क दर शन षड दर शन म स प रस द ध ह इस दर शन क प रम ख लक ष य मन ष य क वह परम लक ष य म क ष क प र प त कर सक अन य दर शन क भ त
  • म छह आस त क और उतन ह न स त क दर शन बन ब द म व द न त कह ज न व ल दर शन क अन तर गत भ लगभग उतन ह सम प रद य बन गय श व - श क त दर शन अलग बन
  • प रक त और प र ष क द व त अस त त व क ब त कह गय ह ज न दर शन ब द ध दर शन और च र व क दर शन व द क अस व क र करत ह इस अर थ म उन ह न स त क कह
  • आज वक द न य क प र च न दर शन पर पर म भ रत य जम न पर व कस त ह आ पहल न स त कव द य भ त कव द सम प रद य थ भ रत य दर शन और इत ह स क अध य त ओ क
  • स द ह हट ज त ह वह इस ग णस थ न म पह चत ह और सम यक द ष ट सच च आस त क कहल त ह स द ह ध य न य ग र क न र द श क क रण हट सकत ह 5. द श - व रत
  • व स तव क न म जरत क र ह और इनक सम न न म व ल पत म न जरत क र तथ प त र आस त क ज ह इन ह न गर ज व स क क बहन क र प म प ज ज त ह प रस द ध म द र
  • प स अन धर ठ ढ ग व क न व स थ इन ह न व श ष क दर शन क अत र क त अन य सभ प च आस त क दर शन पर ट क ल ख ह उनक ज वन क व त त न त बह त क छ नष ट
  • हम र सम म ख अपन शक त क अभ व य जन कर रह ह न स त क दर शन न सद य स क त न स त कत आस त क Discussion Agnosticism What Is An Agnostic? by Bertrand Russell
  • क स नए दर शन क रचन नह क ह वरन उनक व च र क ज द र शन क आध र ह वह ग ध दर शन ह ईश वर क सत त म व श व स करन व ल भ रत य आस त क क ऊपर
  • दर शन म न स त क शब द उनक ल य भ प रय क त ह त ह ज व द क म न यत नह द त न स त क म नन क स थ न पर ज नन पर व श व स करत ह वह आस त क क स
                                     
  • न य य दर शन भ रत क छ व द क दर शन म एक दर शन ह इसक प रवर तक ऋष अक षप द ग तम ह ज नक न य यस त र इस दर शन क सबस प र च न एव प रस द ध ग रन थ
  • तत व र थ ध गमस त र 2 - 22 क वनस पत यन त न म कम इस व क य स व द त ह त ह भ रत य आस त क व च रक तथ ज न द र शन क द न ह वनस पत आद स थ वर तथ प थ व आद ज गम
  • व द य लय भ ह द धर म म प ए ज त ह ह द दर शन स क ल दर शनम न म ब ट गय ह इन स क ल क आस त क र ढ व द क र प म वर ग क त क य ज सकत
  • إيمان īmān lit. व श व स इस ल म क धर मश स त र क आध य त म क पहल ओ म एक आस त क व श व स क दर श त ह इसक सबस सरल पर भ ष व श व स क छ ल ख म व श व स
  • अन स र य स त र - ई. क क ल क ह र च र ड ग र व क अन स र आस त क दर शन म न य य सबस ब द क ह क य क ईस व सन क आर भ क पहल इसक कह
  • व श वव द य लय पद धत क वल षड दर शन तक ह भ रत य दर शन क व स त र म नत ह और इन ह ह आस त क दर शन और न स त क दर शन क द वन द व - य द ध क र प म प रस त त करत
  • वर ष क च न तन स उतर और ह न द व द क दर शन क न म स प रचल त ह आ इन ह आस त क दर शन भ कह ज त ह दर शन और उनक प रण त न म नल ख त ह न य य
  • क द र शन क थ - आस त क न स त क नत थ क द ट ठ और द ष ट व द द ष ट क, न यत व द - प रक त व द ग स ल द ष ट व द थ य न उनक दर शन द ट ठ थ इस द ट ठ
  • आल गन करत ह ए महर ष दय नन द क अन त म दर शन न ग र दत त क व च रधर क प र णत बदल द य अब व प र ण आस त क एव भ रत य स स क त एव परम पर क प रबल

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →