पिछला

ⓘ ताश मोटे-भारी कागज़, पतले गत्ते, या पतले प्लास्टिक से विशेष रूप से बनी होती है; जिसमें पहचान के लिए अलग रूपांकन बने होते हैं और उनका इस्तेमाल ताश के खेल के लिए ..

                                               

फूल डोल मेला

हिन्दू धर्म, कोरी जाति के लोगो के द्वारा होली के वर्गों दिन पूरा मेला आयोजित ...

ताश
                                     

ⓘ ताश

ताश मोटे-भारी कागज़, पतले गत्ते, या पतले प्लास्टिक से विशेष रूप से बनी होती है; जिसमें पहचान के लिए अलग रूपांकन बने होते हैं और उनका इस्तेमाल ताश के खेल के लिए एक सेट के रूप में किया जाता है। खेल में सुविधा के लिए आमतौपर ताश के पत्ते हथेली के आकार के होते हैं।

ताश के एक पूरे सेट को पैक या डेक कहते हैं और एक खेल के दौरान एक बार में एक खिलाड़ी द्वारा उठाये गए पत्तों के सबसेट को सामान्यतः हैण्ड कहा जाता है। ताश के एक डेक से अनेक प्रकार के पत्ते के खेल खेले जा सकते हैं, उनमें से कुछ जुआ में भी शामिल हो सकते हैं। चूंकि ताश मानकीकृत हो चुके हैं और आम तौपर उपलब्ध हैं, सो उनका अन्य इस्तेमाल भी होने लगा है, जैसे कि हाथ की सफाई, भविष्यवाणी, गूढ़लेखन, बोर्ड गेम, या ताश के घर बनाना.

प्रत्येक पत्ते के सामने या "फेस" की ओर चिह्नांकन होते हैं, जो डेक के अन्य पत्तों से उन्हें अलग करते हैं और खेले जा रहे खेल विशेष के नियमों के तहत उनके इस्तेमाल का निर्धारण करते हैं। प्रत्येक विशेष डेक के पीछे की ओर ताश के हरेक पत्ते एक जैसे ही होता हैं, आम तौपर एक ही रंग और डिजाइन के. ताश के पिछले हिस्से का उपयोग कभी-कभी विज्ञापन के लिए किया जाता है। अधिकांश खेलों में, पत्ते एक डेक में इकट्ठे होते हैं और फेंटने के जरिये बेतरतीबी से उनके क्रम तय होते हैं।

                                     

1.1. इतिहास प्रारंभिक इतिहास

जयपुर के डीलर्स में चीटिंग प्लेइंग कार्ड्स डिवाइस स्पाई अदृश्य अदृश्य लेंसों की सबसे अच्छी गुणवत्ता प्रदान कर रहे हैं, और धोखा देने वाले कार्ड्स ट्रिक्स। हम जयपुर में चीटिंग कार्ड लेंस भी बेचते हैं।Cheating Playing Cards Device in Jaipurशरुआती 9वीं सदी में तांग राजवंश 618-907 के दौरान चीन में ताश के खेल पाए गये, जब एक राजकुमारी के रिश्तेदार एक "लीफ गेम" पत्तियों का खेल खेला करते थे। तांग लेखक सु ई 885 में जिन्शी उपाधि प्राप्त ने कहा है कि तांग के सम्राट यीजोंग860-874 की बेटी राजकुमारी तोंगचांग?–870 समय काटने के लिए वेई कुल के सदस्यों के साथ लीफ गेम खेला करती थी। सांग राजवंश 960-1279 के विद्वान ओउयांग क्सिऊ 1007-1072 के अनुसार ताश का खेल मध्य तांग राजवंश के समय से अस्तित्व में है और अपने इस आविष्कार के साथ उन्होंने कागज़ के रोल के स्थान पर पृष्ठों के उपयोग के समकालिक विकास को भी जोड़ दिया. येज़ी गेक्सी नामक पुस्तक कथित तौपर एक तांग युग की महिला द्वारा लिखी गयी है और बाद के राजवंशों के लेखकों द्वारा उस टिप्पणी की गयी है।

प्राचीन चीनी "मनी कार्ड्स" money cards में चार "सुट्स" suits होते हैं: सिक्के या नकद, सिक्के के तार अपरिष्कृत चित्र के कारण जिसे छड़ी के रूप में गलत अर्थ निकाला जा सकता है, मिरिअड अर्थात दस सहस्र सिक्कों या तार के और लाख सहस्र एक मिरिअड दस सहस्र का होता है. चित्रलिपि के जरिये इनका प्रतिनिधित्व हुआ करता था, प्रथम तीन सुट्स में 2-9 के अंक होते और "लाख सहस्र" में 1-9 के अंक. विल्किंसन का कहना है कि पहले ताश वास्तविक कागज़ करेंसी हुए हो सकते हैं, जो खेल और उन पर लगे दांव दोनों के उपकरण रहे होंगे, जैसा कि व्यापारिक कार्ड खेल में होता है। आधुनिक माहजोंग टाइल्स की डिजाइन आरंभिक ताश पत्तों से विकसित की गयी हो सकती है। हालांकि, यह हो सकता है कि ताश का डेक जब कभी भी मुद्रित हुआ होगा वो एक चीनी डोमिनो डेक होगा, जिनके पत्तों में हम पांसों की एक जोडी के सभी 21 संयोजनों को देख सकते हैं। 11वीं सदी में संशोधित चीनी मूलग्रंथ कुएई-तिएन-लू में हम पते हैं कि तांग राजवंश के दौरान डोमिनो कार्ड मुद्रित हुए, जो पुस्तक के प्रथम मुद्रण का समकालीन है। चीनी शब्द पाई 牌 का प्रयोग पेपर कार्ड और गेमिंग टाइल्स के वर्णन के लिए किया जाता है।

                                     

1.2. इतिहास यूरोप में प्रारंभ

14वीं सदी के उत्तरार्द्ध के पहले से यूरोप में ताश खेलने के तथाकथित सबूत व्यापक रूप से जाली माने जाते हैं: वोरसेस्टर परिषद के 38वें अधिनियम 1240 को अक्सर ही 13वीं सदी के मध्य में इंग्लैण्ड में ताश खेले जाने के सबूत के तौपर उद्धृत किया जाता है, लेकिन वहां जिस डी रेगे एट रेजिना राजा और रानी के लिए खेल का उल्लेख है, उस बारे में अब सोचा गया कि वो बहुत संभव शतरंज के सिलसिले में है। 11वीं सदी के एक वस्त्र की पृष्ठभूमि में पान, चिड़ी, ईंट और हुकुम की आकृति दिखाई देती है। इसे "बिशप गुन्थर्स श्राउड़" Bishop Gunther’s shroud के रूप में जाना जाता है, जिसे कॉन्स्टेंटिनोपल में बनाया गया और अब यह बम्बर्ग कैथेड्रल में है। "एस" शब्द एंग्लो-नोर्मन भाषा के डाइसिंग dicing से आया है, जबकि यह खुद भी लैटिन से सिक्के की सबसे छोटी इकाई के रूप में व्युत्पन्न है। ताश के खेल में कभी-कभी एक अन्य डाइसिंग शब्द ट्रे trey 3 दिख जाया करता है।

कोने और किनारे की सूचियों से लोगों को एक हाथ से अपने पत्ते एकदम करीब से पकड़ने में सुविधा हुई जबकि पहले दोनों हाथ का इस्तेमाल करना पड़ता था. लैटिन सूट के पत्तों का पहला ज्ञात पैक डेक है जो इन्फिरेरा द्वारा 1693 में मुद्रित किया गया इंटरनेशनल प्लेइंग कार्ड्स सोसायटी जर्नल 30- 1 पृष्ठ 34, लेकिन इसका आम इस्तेमाल 18वीं सदी के अंत में ही हो पाया। एंग्लो अमेरिकन डेक में सूचियों का प्रयोग 1875 से शुरू हुआ, जब न्यूयॉर्क समेकित कार्ड कंपनी ने स्क्वीजर्स का पेटेंट करवाया, सूचियों के साथ पहले ताश में एक बड़ा फैलाव तथा। हालांकि, इस नवरचना के साथ पहला डेक सलादी का पेटेंट था, जिसे 1864 में सामुएल हार्ट ने मुद्रित किया।

इससे पहले, एक इंग्लिश डेक के सबसे निचले कोर्ट कार्ड को आधिकारिक तौपर नैव Knave कहा जाता, लेकिन संक्षिप्त नाम "Kn" किंग के "K" से बहुत अधिक मिलता-जुलता था और इसलिए यह शब्द सूचियों में अच्छी तरह से अनुदित नहीं किया गया। बहरहाल, 1600 के दशक से नैव को अक्सर जैक Jack कहा जाने लगा, यह शब्द इंग्लिश नवजागरण ताश के खेऑल फोर्स All Fours से उधार लिया गया, जहां तुरुप के नैव का यह नाम है। ऑल फोर्स को निम्न वर्ग का खेल माना जाता था, सो जैक शब्द के प्रयोग को कभी अश्लील माना जाता था। हालांकि, सूचियों के उपयोग ने इंग्लिश डेक में नैव के स्थान पर जैक के औपचारिक परिवर्तन को प्रोत्साहित किया। गैर-इंग्लिश भाषाओं के डेक में यह द्वंद्व नहीं रहा; उदाहरण के लिए फ्रांसिसी टैरो डेक में सबसे निचले पत्ते को "वेलवेट" कहा गया, जो नाईट पत्ते का "स्क्वाइर" अर्थात सरदार हुआ 52 पत्ते के ताश में इसे नहीं देखा जाता क्योंकि रानी की जोडी राजा के साथ है।

इसके बाद परिवर्तनीय कोर्ट कार्ड की नवरचना आयी। यह आविष्कार 1745 में एज़न के एक फ्रांसिसी ताश निर्माता ने किया। लेकिन ताश के डिजाइन पर नियंत्रण रखने वाली फ्रांस सरकार ने आविष्कार के साथ ताश के मुद्रण पर रोक लगा दी. 18वीं सदी के ऊत्तरार्ध के दौरान मध्य यूरोप ट्रेपोला ताश, इटली टैरोछिनो बोलोग्नीज और स्पेन में इस नवरचना को अपनाया गया। ग्रेट ब्रिटेन में 1799 में परिवर्तनीय कोर्ट कार्ड को एडमंड लुडलो और एन विल्कोक्स ने पेटेंट करवाया. इस डिजाइन के एंग्लो-अमेरिकी पैक का मुद्रण 1802 के आसपास थॉमस व्हीलर द्वारा किया गया। परिवर्तनीय कोर्ट कार्ड का अर्थ हुआ कि खिलाड़ी सीधे कोर्ट कार्ड को उल्टा करने की कोशिश नहीं करेंगे. इससे पहले, उलटी ओर से देखकर अन्य खिलाड़ियों को अक्सर दूसरे खिलाड़ियों के पत्तों के बारे में एक संकेत मिल जाया करता था। इस नवरचना से पहले के पूर्ण लंबाई के कोर्ट के कुछ डिजाइन तत्वों को छोड़ना आवश्यक हो गया।

फ्रांसीसी क्रांति के दौरान, राजा, रानी और जैक गुलाम के पारंपरिक डिजाइन स्वाधीनता, समानता और भाईचारा बन गये। 1793 और 1794 की कट्टरपंथी फ्रांसिसी सरकार ने अपने पुराने शासन को ढहते हुए देखा और एक अच्छा क्रांतिकारी राजाओं या रानियों के साथ नहीं खेल सकता था, बल्कि क्रांति के आदर्शों को प्रसारित करना उसका लक्ष्य था। आखिरकार इसे 1805 में नेपोलियन के उदय के साथ बदल दिया गया।

जोकर एक अमेरिकी आविष्कार है। यह यूक्रे Euchre के खेल से प्रकल्पित है, जो अमेरिकी क्रांतिकारी युद्ध के तुरंत बाद शुरू होकर यूरोप से लेकर अमेरिका तक फ़ैल गया और 1800 के मध्य में बहुत लोकप्रिय हुआ। यूक्रे में, तुरुप सूट का गुलाम सबसे बड़ा तुरुप का पत्ता होता है, जिसे राईट बोवर right bower कहा जाता है; जबकि दूसरे सबसे बड़े तुरुप को लेफ्ट बोवर left bower कहते हैं, जो उस सूट के उसी रंग का जैक अर्थात गुलाम होता है। १८७० में एक तीसरे तुरुप के पत्ते जोकर का इजाद हुआ, सर्वोत्तम बोवर, जो अन्य दो बोवर से भी बड़ा माना गया। माना जाता है कि यूक्रे के एक भिन्न नाम जुकर juker से इस पत्ते का नाम पड़ा.

19वीं सदी में, परिवर्तन ताश transformation playing card के नाम से ज्ञात ताश का एक प्रकार यूरोप और अमेरिका में लोकप्रिय हो गया। इन पत्तों में, एक कलाकार ने एक कलात्मक डिजाइन में बिना चहरे के पत्तों में बिंदी डाल दी.

                                     

1.3. इतिहास प्रतीकवाद

लोकप्रिय दंतकथा का मानना है कि ताशों के डेक की संरचना में धार्मिक, आध्यात्मिक, या खगोलीय महत्व है। इन कहानियों के सन्दर्भ कभी-कभी व्याख्या को एक मजाक बताने के लिए दिए जाते हैं, आम तौपर ताश के डेक के साथ किसीके पकडे जाने पर उसके द्वारा यह तथाकथित सफाई देना कि उसका मकसद जुआ खेलना नहीं है।

                                     

2.1. वर्तमान स्थिति एंग्लो-अमेरिकन

आज प्रचलित बावन पत्तों के प्राथमिक डेक में चार फ्रांसिसी सूट, परिवर्तनीय रुआन "कोर्ट" या फेस कार्ड्स सहित ईंट साँचा:Diams, हुकुम साँचा:Spades, पान साँचा:Hearts और चिड़ी साँचा:Clubs के प्रत्येक के तेरह रैंक होते हैं हालांकि, कुछ आधुनिक फेस कार्ड डिजाइन से पारंपरिक परिवर्तनीय फिगर्स हटा दिए गये. प्रत्येक सूट में एक इक्का होता है, इसके सूट के एक एकल प्रतीक का चित्रण होता है; राजा, रानी और गुलाम के उनके सूट के अपने प्रतीक होते हैं; जबकि दो से लेकर दस तक के प्रत्येक पत्ते के लिए उनके सूट के अनेक प्रतीक बिंदी या संकेत हुआ करते हैं। दो कभी-कभी एक या चार जोकर अक्सर एक दूसरे से अलग दिखते हैं, एक पत्ते का रंग दूसरे से कुछ अधिक रंगीन होता है, लेकिन ये किसी भी सूट के नहीं होते; इन्हें वाणिज्यिक डेक में शामिल किया जाता है, लेकिन अनेक लोग खेल से पहले एक या दोनों को हटा दिया करते हैं। आधुनिक खेल के ताशों में विपरीत कोनों में सूचकांक लेबल हुआ करते हैं कभी-कभी चारों कोनों में, ताकि जब वे एक-दूसरे पर व्याप्त हो जाएं अर्थात ओवरलैप करें तो उन्हें पहचाना जा सके और सामने वाले को वे एक जैसे ही लगें.

फैंसी डिजाइन और इंग्लैंड के जेम्स प्रथम के शासनकाल में आम तौपर हुकुम के इक्के पर निर्माता का प्रतीक चिह्न दर्शाने का चलन शुरू हुआ, उस समय एक क़ानून बना जिसके तहत ताश पर एक निशाँ लगाना जरुरी हो गया ताकि यह साबित हो कि ताश के स्थानीय निर्माता द्वारा कर का भुगतान कर दिया गया है। 4 अगस्त 1960 तक, यूनाइटेड किंगडम में ताश के डेक के मुद्रण और बिक्री पर कर लगा करता था और हुकुम के इक्के पर मुद्रक का नाम और कर चुका दिए जाने से संबंधित तथ्य का एक संकेत हुआ करता. सरकारी शुल्क आवरण से पैक सील किये हुए भी होते.

हालांकि कोर्ट कार्ड के विशिष्ट डिजाइनवाले तत्वों का कभी-कभी ही खेल में उपयोग किया जाता रहा और डिजाइनों के बीच बहुत अंतर थे, इनमें कुछ उल्लेखनीय हैं। हुकुम के गुलाम, पान के गुलाम और ईंट के राजा के अर्द्धमुख दिखाए गये हैं, जबकि कोर्ट के बाक़ी को पूरे चहरे के साथ दिखाया गया है; इन पत्तों को आम तौपर "वन-आईड" या काना भी कहा जाता है। कुछ खेलों में जब किसी पत्ते को वाइल्ड बनाने का निर्णय करना होता तो "एसे, ड्वेसे, वन-आईड जैक" के मुहावरे का प्रयोग होता, जिसका मतलब हुआ कि इक्के, दुक्की और काना गुलाम सभी वाइल्ड हैं। पान का राजा एकमात्र राजा है जिसकी मूंछें नहीं हैं और साथ ही ख़ास ढंग से उसके सिर के पीछे एक तलवार दिखाया गया है, मानो वह खुद को ही चोट पहुंचा रहा हो. इस कारण उसका उपनाम "आत्महंता राजा" हो गया। हालांकि, यह भी माना जा सकता है कि वह अपने पीछे तलवार छुपा रहां है। इससे और उसकी लापता मूंछों के कारण उसका नाम "द फाल्स किंग" अर्थात नकली राजा पड़ गया। ईंट के राजा द्वारा पकड़ी हुई कुल्हाड़ी उसके सिर के पीछे है और उसकी धार उसकी ओर है। वह पारंपरिक रूप से एक कुल्हाड़ी से लैस है, जबकि अन्य तीन राजा तलवारों से लैस हैं और इसीलिए ईंट के राजा का उल्लेख कभी-कभी "द मैन विद ऐक्स" अर्थात कुल्हाड़ीधारी आदमी के रूप में भी किया जाता है। यह तुरुप का आधार है "काना गुलाम और कुल्हाड़ीधारी आदमी. ईंट का गुलाम कभी-कभी "लाफिंग ब्वॉय" अर्थात हंसमुख लडका के रूप में जाना जाता है। हुकुम का इक्का, जो अद्वितीय रूप से बड़ा और अलंकृत हुकुम है, को कभी-कभी मृत्यु का पत्ता कहा जाता है और कुछ खेल में इसे तुरुप बनाया जाता है। हुकुम की रानी आमतौपर एक राजदंड रखती है और कभी-कभी "द बेडपोस्ट क्वीन" के रूप में जानी जाती है, हालांकि उसे अधिकतर "ब्लैक लेडी" कहा जाता है। कई डेक में चिडी की रानी एक फूल पकड़े होती है। इसीलिए उसे "फूलों की रानी" के रूप में जाना जाता है, हालांकि जर्मनी और स्वीडेन के अनेक ताशों में उसे एक पंखे के साथ चित्रित किया गया है, हालांकि यह डिजाइन तत्व बहुत परिवर्तनीय है; मानक साइकिल पोकर डेक में सभी रानियों को उनके सूट के अनुसार एक फूल के साथ चित्रित किया गया है।

इस पर कई मत हैं कि कोर्ट कार्ड किनका प्रतिनिधित्व करते हैं। उदाहरण के लिए, कुछ लोगों का मानना है कि पान की रानी इंग्लैंड के राजा हेनरी सप्तम की राजमहिषी योर्क की एलिजाबेथ का प्रतिनिधित्व करती है, या कभी-कभी यह भी माना जाता है कि हेनरी अष्टम की दूसरी पत्नी एन्ने बोलेन का यह प्रतिनिधित्व करती है। अमेरिकी ताश कम्पनी की राय में, अतीत में, पान का राजा शार्लमेयनी, ईंट का राजा जुलियस सीजर, चिडी का राजा महान सिकंदर और हुकुम का राजा बाइबिल किंग डेविड का था देखें राजा ताश). बहरहाल, मानक एंग्लो-अमेरिकन ताश के राजा, रानी और गुलाम आज इनमें से किसीका भी ख़ास तौपर प्रतिनिधित्व नहीं करते. 1516 से पहले और, 1540-67 तक, वे रुआन में निर्मित डिजाइन से उत्पन्न हुए हैं; कोर्ट कार्ड में उस समय की विशेष दरबारी वेशभूषा सहित ये रुआन डिजाइन अच्छी तरह से निष्पादित तस्वीरें दर्शाते हैं। इन आरंभिक पत्तों में, हुकुम का गुलाम, पान का गुलाम और ईंट का राजा को पीछे से दिखाया गया, उनके सिर उनके कंधों से पीछे की ओर मुड़े हुए हैं, जिससे उनका अर्द्धमुख ही दिखता है; बहरहाल, इंग्लैंड में रुआन पत्तों की नकल ऎसी बुरी की गयी कि वर्तमान डिजाइन मूल रूप का एकदम से विरूपण है।

पान के राजा की मूंछें न होना जैसी कुछ विचित्रताओं का भी कोई महत्व नहीं. मूल रूप से पान के राजा की मूंछ हुआ करती थी, मगर मूल प्रति की खराब नकल के कारण यह गायब हो गयी। - एक मुकुट के साथ एक खडी महिला

  • फान्टे अर्थ- पैदल सैनिक - बिना मुकुट के खड़ी एक छोटी आकृति

स्पेनिश-जैसे-सूट के नैव फान्टे - सबसे निचला तस्वीर वाला पत्ता को एक महिला के रूप में दर्शाया गया है और कभी-कभी फ्रांसिसी-सूट डेक के अगले उच्च तस्वीर की तरह दोन्ना के रूप में निर्दिष्ट किया गया है; यह, जब फ्रांसिसी उपयोग के साथ युग्मित होता है, जो एक रानी रखता है, जिसे इतालवी में रेजिना रानी नहीं बल्कि दोन्ना महिला कहते हैं, जो एक मध्य-मूल्य तस्वीर-पत्ते के रूप में होता है, बहुत कभी-कभी ही फ्रांसिसी-सूट दोन्ना या अंतर्राष्ट्रीय-कार्ड क्वीन के साथ बहुत कम और नैव या गुलाम के साथ मूल्य का अदल-बदल कर सकता है।

एंग्लो-अमेरिकन ताश के असदृश, कुछ इतालवी ताशों में उनके मूल्य की पहचान के लिए कोई संख्या या अक्षर नहीं होते हैं। पत्ते के मूल्य चेहरे वाले पत्ते को पहचान कर या सूट संप्रतीकों की संख्या को गिनकर निर्धारित होते हैं।

                                     

2.2. वर्तमान स्थिति स्पैनिश

पारंपरिक स्पेनिश डेक स्पेनिश में बराज एस्पनोला रूप में उल्लेखित लैटिन सूट प्रतीकों का उपयोग करता है। लैटिन-सूट डेक होने के कारण इतालवी डेक की तरह, यह चार पालोस सूट में आयोजित होता है, जो इतालवी-सूट के टैरो डेक से बहुत ही निकटता से मिलता-जुलता है: ओरोस "सोना" या सिक्के, कोपास बीकर या प्याले, एस्पदस तलवारें और बास्तोस डंडे या चिड़ी. कुछ डेक में दो "कोमोडाइन्स" जोकर होते हैं।

सभी पत्तों स्पैनिश में कार्ट्स के नंबर होते हैं, लेकिन मानक एंग्लो-फ्रेंच डेक के असदृश, 10 नंबर का पत्ता कोर्ट कार्ड में पहला होता है दस सिक्के/प्याले/तलवारें/डंडों के पत्तों के बजाय; सो प्रत्येक सूट में सिर्फ बाढ़ पत्ते ही होते हैं। प्रत्येक सूट में तीन कोर्ट या चेहरे वाले पत्ते निम्नलिखित हैं: ला सोटा "नैव" या गुलाम, दसवां नंबर और एंग्लो-फ्रेंच कार्ड J के समकक्ष, एल कबाल्लो और अंत में एल रेय "राजा", 12वां नंबर और एंग्लो-फ्रेंच कार्ड के K के समकक्ष. बहरहाल, अधिकांश स्पैनिश खेल चालीस पत्तों के डेक का प्रयोग करते हैं, 8 और 9 नंबर के पत्तों को हटाकर, जो इतालवी मानक डेक के समान है।

आकड़े के चारों ओर के बॉक्स में एक चिह्न होता है जिससे अपने सभी पत्तों को देखे बिना आप सूट में अंतर कर सकते हैं: प्यालों में एक व्यवधान होता है, तलवारों में दो, चिड़ी में तीन और सोने में कुछ नहीं होता. इस निशान को "ला पिंटा" कहते हैं और जो इस अभिव्यक्ति को जन्म देता है: "ले कोनोकी पोर ला पिंटा" मैं उसे उसके निशान से जानता हूं.

कई लैटिन अमेरिकी देशों में बरजा को व्यापक रूप से तंत्र-मंत्र का हिस्सा माना जाता है, फिर भी उनका व्यापक रूप से ताश के खेलों और जुआ में इस्तेमाल होता है, विशेषकर स्पेन में, जो एंग्लो-फ्रेंच डेक का उपयोग नहीं करता. अन्य स्थानों में, बरजा वन हंड्रेड ईयर्स ऑफ़ सोलिट्युड़ तथा अन्य हिस्पानिक और लैटिन अमेरिकी साहित्य में दिखाई देता है। स्पेनिश डेक न सिर्फ स्पेन में प्रयोग किया जाता है, बल्कि उन अन्य देशों में भी जहां स्पेन ने प्रभाव बनाये रखा जैसे कि मेक्सिको, अर्जेंटीना और अधिकांश हिस्पानिक अमेरिका, फिलीपींस और प्युर्टो रिको)1. इस डेक से खेले जाने वाले खेलों में शामिल हैं: एल मुस बास्क मूल का एक बहुत ही लोकप्रिय और बहुत ही सम्मानित स्पर्धा खेल, ला ब्रिस्का, लापोचा, एल टूटे, अनेक भिन्नताओं के साथ, एल गुइनोट, ला एस्कोबा डेल कुइंस हाथ की सफाई का एक खेल, एल जुलेपे, एल सिन्क़ुइल्लो, लास सिएटे वाई मिडिया, ला मोना, एल ट्रुक या ट्रुको, एल कुआजो फिलीपींस का एक मैचिंग खेल, एल जामोन, एल टोंटो, एल हिजोपुटा, एल मेंत्रीरोसो, एल कुको, लास परेजास और लास कुआरेंटा एक मच्छीमार खेल, इक्वेडोर का राष्ट्रीय ताश खेल.

स्पेन में, एंग्लो-अमेरिकन मूल का खेल, जैसे कि पोकर और ब्लैकजैक, 52-पत्ते के डेक से खेले जाते हैं, जिसे बरजा डी पोकर कहा जाता है।

                                     

2.3. वर्तमान स्थिति भारत

गंजिफा: प्राचीन भारत में सामन्यता ताश जैसे इस खेल का भी धार्मिक और नैतिक महत्व था। ताश की तरह के पत्ते गोलाकार शक्ल के होते थे, उन पर लाख के माध्यम से या किसी अन्य पदार्थ से चित्र बने होते थे। गरीब लोग कागज या कंजी लगे कड़क कपड़े के कार्ड भी प्रयोग करते थे। सामर्थवान लोग हाथी दांत, कछुए की हड्डी अथवा सीप के कार्ड प्रयोग करते थे। उस समय इस खेल में लगभग 12 कार्ड होते थे जिन पर पौराणिक चित्र बने होते थे। खेल के एक अन्य संस्करण ‘नवग्रह-गंजिफा’ में 108 कार्ड प्रयोग किए जाते थे। उनको 9 कार्ड की गड्डियों में रखा जाता था और प्रत्येक गड्डी सौर मण्डल के नव ग्रहों को दर्शाती थी। यही गंजिफा बाद में बन गया ताश का खेल।

                                     

2.4. वर्तमान स्थिति पूर्व एशिया

मानक 52-पत्ता डेक ताइवान, जापान, चीन और दक्षिण कोरिया में आम तौपर एक "पोकर" डेक के रूप में जाना जाता है। प्रकारांतरेण, जापान और कोरिया में उसी डेक का एक अधिक आम नाम है ट्रम्प क्रमशः トランプ टोराम्पू, 트럼프 टयूरेओम्पू, जो ट्रम्प कार्ड शब्द से बने हैं। ये पत्ते सबसे अधिक कैसिनो में बक्कारत और ब्लैकजैक के लिए इस्तेमाल होते हैं, या खेल में क्रम के निर्णय लेने में या बिलियर्ड्स खेल में चुनौती के लिए उपयोग में आते हैं। खुद पोकर और अन्य पश्चिमी खेल अपेक्षाकृत अज्ञात हैं, हालांकि पूर्वी एशियाई खेलों में पोकर डेक का इस्तेमाल होता है, जैसे कि डैफुगो और दो-दस-गुलाम में. पूर्वी एशिया में घरेलू और ऑनलाइन ताश खेल में कोइ-कोइ और गो-स्टॉप जैसे खेल करुता का उपयोग करते हैं, जैसे कि जापान में हनाफुदा, उता-गरुता या कबुफुदा डेक और कोरिया में समकक्ष हवातु डेक.

                                     

2.5. वर्तमान स्थिति अभिगम्य ताश

नेत्रहीनों के लिए ताश को रूपांतरित किया गया है, इसके लिए बड़े-प्रिंट और/या ब्रेल अक्षरों को ताश में शामिल किया गया। मानक कार्ड डेक और विशेष तरह के खेलों के डेक दोनों को ही संयुक्त राष्ट्र संघ ने सामान्यतः अनुकूलित किया है। बड़े प्रिंट कार्ड सामान्यतः बुजुर्गों द्वारा भी इस्तेमाल में लाया जाता है। सूत प्रतीकों और नामकरण सूत्र के आकार बढाने से बड़े प्रिंट के पत्ते आम तौपर दृश्य जटिलता को कम करते हैं, इससे चित्रों को पहचानने में आसानी होती है। उन्होंने बिंदियों के पैटर्न को हटाकर उनकी जगह एक बड़ी बिंदी लगाना शुरू किया ताकि सूत को पहचानने में सुविधा हो. बड़े पत्तों का कभी-कभी इस्तेमाल होने लगा, मगर वे असामान्य बने रहे. ताश पकड़ने और बड़े सूत्र के मामले में इनसे सहायता मिल सकती है।

ब्रेल ताश के लिए कोई सार्वभौमिक मानक नहीं हैं। कई राष्ट्रीय और निर्माता भिन्नताएं हैं। ज्यादातर मामलों में एक ही स्थान में प्रत्येक कार्ड में सामान्य कोने के चिह्न के रूप में दो ब्रेल विशिष्टता होती है। दो संप्रतीक या चिह्न या तो अक्षरों में प्रकट हो सकते हैं या तो लम्बरूप एक चिह्न के नीचे दूसरा में हो सकते हैं या फिर क्षैतिज या पट अवस्था में दो चिह्न अगल-बगल. किसी भी मामले में एक चिह्न कार्ड सूट की पहचान कराता है और दूसरा कार्ड के नम्बर या नाम को. इक्का के लिए 1, नंबर वाले पत्तों के लिए 2 से 9 तक, X या O अक्षर दस के लिए, J गुलाम के लिए, Q रानी और K राजा के लिए. सूट को विभिन्न प्रकार से चिह्नित किया जाता है, जैसे डायमंड ईंट के लिए D, स्पेड हुकुम के लिए S, क्लब चिड़ी के लिए K या X और हार्ट पान के लिए H या K का इस्तेमाल होता है।

                                     

3. यूनिकोड में प्रतीक

यूनिकोड मानक विविध प्रतीक ब्लॉक में कार्ड सूट के लिए 8 चिह्नों को परिभाषित करता है, U+2660 से U+2667 तक:

52 पत्ते के एंग्लो-अमेरिकन-फ्रेंच डेक को "प्लेइंग कार्ड बैक" के चिह्न और अन्य एक जोकर के लिए एक साथ इनकोड करने का 18 मई 2004 को माइकल एवरसन ने एक प्रस्ताव भी दिया है।

                                     

4. निर्माण तकनीक

एक नये डेक के लिए विशिष्ट निर्माण प्रक्रिया सबसे अधिक उपयुक्त सामग्री की पसंद के बीच चयन के साथ शुरू हुई: कार्ड स्टॉक या प्लास्टिक.

विशिष्ट प्रकार के कागज़ या शीट पर पत्ते छापे जाने लगे, ताश के पत्तों पर छपे रंगों की कांति और चमक को बढाने के लिए वार्निश की प्रक्रिया चलने लगी, साथ ही उनके स्थायित्व को भी बढ़ाया गया।

वर्तमान बाजार में, कुछ उच्च गुणवत्ता वाले उत्पाद उपलब्ध हैं। पत्तों की सतह पर कुछ ख़ास उपचार किये गये, जैसे कि कैलेंडरिंग और लिनेन परिष्करण, जो पेशेवर या घरेलू उपयोग में अच्छे प्रदर्शन की गारंटी करते हैं।

पत्ते शीत पर छापे जाते हैं, जिन्हें काटा और एक साथ व्यवस्थित लंबवत धारियों में किया जाता है, उसके बाद एक-एक पत्ते को काटकर अलग करने का काम शुरू होता है। नये डेक कोडांतरण के बाद, उन्हें कोने की गोलाई प्रक्रिया से गुजारा जाता है, जो अंतिम रूपरेखा प्रदान करती है: ठेठ आयताकार ताश का आकार.

अंत में, प्रत्येक डेक को सेलोफेन में लपेटा जाता है, इसे इसके डिब्बे में डाला जाता है और यह वितरण के लिए तैयार हो जाता है।

                                     
  • पन र त श कब ब एक प ज ब व य जन ह
  • 52 फ र स स त श सबस स म न य पत त य क सम ह ह आजकल च र स ट स ह इस प रक र क त श म च ड ई ट प न और ह क म सभ स ट म ह अ क
  • इक क त श क एक पत त ह एक त श क गड ड म ऐस च र इक क ह त ह च ड ह क म, प न, ई ट अध कतर ह क म इक क क क फ सज वट क स थ छ प ज त ह ह क म
  • भ ब क त श क र प म ज न ज त ह इस त श प र प त करन क ल ए हम एक ब क म एक ब क ख त क आवश यकत ह न म त श एक प ल स ट क भ गत न त श ह ज अपन
  • त श न मग य ल Tashi Namgyal Sikkimese: བཀ ཤ ས ར མ ར ལ Wylie: Bkra - shis Rnam - rgyal 26 अक ट बर 1893 2 द सम बर 1963 वर ष स तक स क क म
  • त श त न ड प क ल क - क र य क क ष त र म उत क ष ट य गद न क ल ए 2014 म भ रत सरक र न पद मश र स सम म न त क य व जम म एव कश म र र ज य स ह पद म
  • आपर ध क ड न और त श क पत त क ज आर प लत ह वह च हत ह क र ज उसक स थ कम शन क आध र पर क म करन ज र रख र ज वह सब स खत ह ज त श ख लन क ब र
  • क स न - क ल Son - Kul और चत र - क ल Chatyr - Kul झ ल मशह र ह यह एक त श रबत Tash Rabat न मक व सद क पत थर क एक सर य भ ह जह य त र सस त य
  • ह व ल ह त ह क अर ज न आ ज त ह और त श क बच ल त ह अर ज न और त श पहल ब र एक द सर स म लत ह त श उसक ज न बच न क ल ए उसक श क र य अद
  • ऊ च पर वत श खल ओ क ब च बस य गय थ इस शहर क दक ष ण म ब श - त श व द ह ब श - त श क मतलब क रग ज भ ष म प च पत थर ह त ह तल स शहर व य प र क
                                     
  • च न व लड रह ह व आर यन क र जव र और त श क एक द सर स द र करन क ज म म द र द त ह र जव र, त श स अपन प य र क इज ह र भ करत ह ल क न
  • पस द व ल ल ग न त य, न टक य म चन य च त रकल म अपन य गद न द न पस द करत ह वह अश क ष त य अर धश क ष त ल ग त श य ज ए ख लकर अपन समय क टत ह
  • प कर त श क एक प रक र क ख ल ह ज सम शर त लग न व अक ल ख लन श म ल ह इसम व ज त उसक प स म ज द पत त क म ल व क रम स च न ज त ह ज नम क छ
  • ल ए द य द स अध क स भ व य प रत दर श समष ट ह सकत ह उद हरण र थ, अगर त श क पत त क एक भल - भ त फ ट ह ई गड ड म स एक पत त न क ल ज य
  • पक ड सम स म स ह र त द र च कन  बटर च कन  च कन ट क क पन र त श कब ब  ग ड प ल प श वर चन अच र मटन  च कन मख न च कन म थ र ट
  • क स ख य म घटन क ह न क स भ वन क स प र ण स ख य स भ ग द त ह त श क 52 पत त य म इस ब र ख चन स क ल प न क ब दश ह न कल इसक स भ वन
  • अ ग र ज व ह न द द न म च त र त क य गय ह इमर न ख न अभ न त - त श द रज ल हत व र द स - अर प क ण ल र य कप र - न त न ब र प र ण जगन न थन
  • अल व हलक - फ ल क न श त भ पर स ज त ह क छ जगह पर च यख न म शतर ज, त श ध म रप न ज स क ह क क और अन य हलक स म ह क क र य ओ क भ ब द बस त क य
  • उल ल खन य पर वत ह च ग क म द ग र 7, 071 म टर स क य मप च र अग त श 7, 016 m च ग क म द ग र 7, 004 m क र क रम स य च न ह म न सस र म ज त ग
  • ल क स गटन एव न य दक ष ण य ड उनट उन ट र ट म ग र र ड स ट र ट म ह त श व श ष र प स म त ह र म भ ज क स थ प रस द ध ह Beyond litti chokha
  • इस ट कट क खर द र करत ह ट कट क न रखत ह यह न र ध र त करन क ल ए वह त श ख लत ह जग ग ज त ज त ह और ट कट उसक स थ रहत ह जब ट कट व ज त स ब त
                                     
  • अभ न त र ह यह म ख य र प स स न क सबस ल ब चलन व ल क र यक रम स आईड म त श न मक क रद र क क रण ज न ज त ह इसक अल व इन ह न न आन इस द श ल ड
  • आज भ व द यम न ह त श व य प व इ ट यह व य प व इ ट ग गट क नगर स 4 क ल म टर क द र पर ह और इस स क क म क स वर ग य र ज त श न मग य ल न बनव य थ
  • अण ओ क उष म क गत अन यम त ह त ह और इ जन क प स टन क स न यम त ज स त श क पत त क ब र ब र फ टकर उनक न यम त व न य स करन अस भव स ह ह ऐस
  • ज वन श ल म रहत ह उनक म र न म क म न क शल अपन अध कतर समय त श ख लन म ब त त थ उन ह न उसक परवर श उसक द ई क प स छ ड द थ पर ण मस वर प
  • स र कर ए ग यह द खन ल यक कई स थ न ह ज स गण श ट क, हन म न ट क तथ त श व य प व इट अगर आप ग गट क घ मन क प र ल फ त उठ न च हत ह त इस शहर
  • पह ड य क ज त ओग ज य न स त ब ल कहत ह स ब क ब ग न तमग त श य न तमग च ह न व ल पत थर ज सपर त ब बत भ ष म ब द ध मन त र ल ख
  • महत वप र ण ख त न तक ज त ह श नज य ग क स थ न य उईग र भ ष म ह न द त श क मतलब भ रत य पर वत य भ रत य श ल ह त ह यह दर र भ रत य - प रभ व त
  • म ज ब श व स ब रमण यम - ल ब चन दन र य स न य ल - म कह ल त ज ग न म - त श ऋष क श ज श - ल ल रजत व दत त - स मन हर श खन न - अफग न क र ल स प स
  • भ न न ह और ग र ब व ग यब ज स शब द म म लत ह त र क भ ष ओ म त श क मतलब पत थर ह त ह और यह ह न द त श अर थ: ह न द - पत थर और त शकन द

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →