पिछला

ⓘ साहित्य. किसी भाषा के वाचिक और लिखित को साहित्य कह सकते हैं। दुनिया में सबसे पुराना वाचिक साहित्य हमें आदिवासी भाषाओं में मिलता है। इस दृष्टि से आदिवासी साहित्य ..


                                               

पुस्तक

पुस्तक या किताब लिखित या मुद्रित पन्नो के संग्रह को कहते हैं। डिजिटल पुस्तकों...

                                               

उपन्यास

अर्नेस्ट ए. बेकर ने उपन्यास की परिभाषा देते हुए उसे गद्यबद्ध कथानक के माध्यम ...

                                               

साहित्येतिहास

साहित्येतिहास से आशय गद्य और पद्य के रूप में लिखे गये सम्पूर्ण साहित्य के विक...

                                               

पत्रिका

Outdoor ConferenceOutdoor Conference पत्रिका वह नियतकालिक कृति है जो मुख्यतः ...

                                               

समाचारपत्र

समाचार पत्र या अख़बार, समाचारो पर आधारित एक प्रकाशन है, जिसमें मुख्यत: सामयिक...

                                               

साहित्यिक समालोचना

साहित्य के पाठ अध्ययन, विश्लेषण, मूल्यांकन एवं अर्थ निगमन की प्रक्रिया साहित्...

                                               

जापानी साहित्य

जापानी साहित्य काफी पुराना है। जापानी साहित्य की आरम्भिक रचनाएँ चीन और चीनी स...

                                               

जर्मन भाषा का साहित्य

जर्मन साहित्य, संसार के प्रौढ़तम साहित्यों में से एक है। जर्मन साहित्य सामान्...

                                               

चेक साहित्य

चेकोस्लोवाकिया के प्रथम लिखित साहित्यिक उदाहरण प्राचीन स्लाव भाषा में 9-11वीं...

साहित्य
                                     

ⓘ साहित्य

किसी भाषा के वाचिक और लिखित को साहित्य कह सकते हैं। दुनिया में सबसे पुराना वाचिक साहित्य हमें आदिवासी भाषाओं में मिलता है। इस दृष्टि से आदिवासी साहित्य सभी साहित्य का मूल स्रोत है। साहित्य - स+हित+य के योग से बना है

                                     

1. भारतीय साहित्य

भारतीय वाङ्मय को काल की दृष्टि से निम्नलिखित भागों में विभक्त किया गया है -

भारत का संस्कृत साहित्य ऋग्वेद से आरम्भ होता है। व्यास, वाल्मीकि जैसे पौराणिक ऋषियों ने महाभारत एवं रामायण जैसे महाकाव्यों की रचना की। भास, कालिदास एवं अन्य कवियों ने संस्कृत में नाटक लिखे।

भक्ति साहित्य में अवधी में गोस्वामी तुलसीदास, ब्रज भाषा में सूरदास तथा रैदास, मारवाड़ी में मीराबाई, खड़ीबोली में कबीर, रसखान, मैथिली में विद्यापति आदि प्रमुख हैं। अवधी के प्रमुख कवियों में रमई काका सुप्रसिद्ध कवि हैं।

हिन्दी साहित्य में कथा, कहानी और उपन्यास के लेखन में प्रेमचन्द का महान योगदान है।

ग्रीक साहित्य में होमर के इलियड और ऑडसी विश्वप्रसिद्ध हैं। अंग्रेज़ी साहित्य में शेक्स्पियर का नाम कौन नहीं जानता।

                                     
  • ज सकत ह पर त ह न द स ह त य क जड मध यय ग न भ रत क अवध म ग ध अर धम गध तथ म रव ड ज स भ ष ओ क स ह त य म प ई ज त ह ह द म
  • ब गल भ ष क स ह त य स थ ल र प स त न भ ग म ब ट ज सकत ह - 1. प र च न 950 - 1, 200 ई. 2. मध य क ल न 1, 200 - 1, 800 ई. तथ 3. आध न क - 1, 800 क
  • भ रत क स ह त य अक दम भ रत य स ह त य क व क स क ल य सक र य क र य करन व ल र ष ट र य स स थ ह इसक गठन म र च क भ रत सरक र द व र क य गय
  • भ रत य स ह त य स त त पर य सन क पहल तक भ रत य उपमह द व प एव तत पश च त भ रत गणर ज य म न र म त व च क और ल ख त स ह त य स ह द न य म सबस
  • कन नड स ह त य क इत ह स लगभग ड ढ हज र वर ष प र न ह क छ स ह त य क क त य ज व शत ब द म रच गय थ अब भ स रक ष त ह कन नड स ह त य क म ख यत
  • इसव तक उड य स ह त य म धर म, द व - द व क च त रण ह म ख य ध य य ह आ करत थ पर स ह त य त सम प र ण र प स क व य पर ह आध र त थ उड य भ ष क
  • वर तम न स ह त य ह न द क एक पत र क ह यह स ह त य कल और स च क पत र क म स क क र प म प रक श त ह त रह ह क छ समय क ल ए यह पत र क त र म स क
  • र श द ज त ह नक द र श इस समय एक ल ख र पए ह स ह त य अक द म द व र अन व द प रस क र, ब ल स ह त य प रस क र एव य व ल खन प रस क र भ प रत वर ष व भ न न
  • उड य भ ष ओ स प रभ व त ह ई ह छत त सगढ स ह त य म भ रत य स स क त क तत व वर तम न ह इस स ह त य म अन क ल ककथ ए ह ज नक म ल भ व भ रत क अन य
  • अख ल भ रत य ह न द स ह त य सम म लन, ह न द भ ष एव स ह त य तथ द वन गर क प रच र - प रस र क समर प त एक प रम ख स र वजन क स स थ ह इसक म ख य लय प रय ग
  • व द क स ह त य भ रत य स स क त क प र च नतम स वर प पर प रक श ड लन व ल तथ व श व क प र च नतम स र त ह व द क स ह त य क श र त भ कह ज त ह क य क
                                     
  • समक ल न भ रत य स ह त य स इनस त त पर य ह त ह भ रत य स ह त य क समक ल न इत ह स समक ल न भ रत य स ह त य पत र क
  • ब ग ब द क ब ग य स ह त य पर षत कर द य गय व भ न न उप य द व र ब ग ल भ ष व ब ग ल स ह त य क अन श लन एव उन नत स धन ह ब ग य स ह त य पर षत क उद दश य
  • यह ल ख इ ग ल ड क स ह त य क बज य अ ग र ज भ ष क स ह त य पर क द र त ह इस ल ए इसम स क टल ड, व ल स, क र उन न र भर द श और प र आयरल ड क ल खक
  • द ख तम ल स ह त य क इत ह स प स तक तम ल भ ष क स ह त य अत यन त प र न ह भ रत म स स क त क अल व तम ल क स ह त य ह सबस प र च न स ह त य ह अन य
  • स ह त य अम त ह न द क एक पत र क ह प रभ त प रक शन द व र प रक श त यह स ह त य क पत र क ह न द म छपत ह और नई द ल ल स न कलत ह इस समय इसक सम प दक
  • म ध यम स पह च य दल त स ह त य क अवध रण क ल कर ल ब बहस चल यह सव ल दल त स ह त य म प रम खत स छ य रह क दल त स ह त य क न ल ख सकत ह य न
  • प रक र क व ङ मय क रचन ह ई स स क त भ ष क स ह त य अन क अम ल य ग र थरत न क स गर ह इतन सम द ध स ह त य क स भ द सर प र च न भ ष क नह ह और न
  • क थ ब द म इसक क र य व स त र ह आ और इस अख ल भ रत य स ह त य पर षद न म द य गय स ह त य क क ष त र म यह र ष ट र य स वय स वक स घ क आन ष ग क स गठन
  • च न आद भ ष ओ क प र च न स ह त य क भ त क र य य क प र च न स ह त य म भ ध र म क कर मक ड क म ख यत द खन म आत ह न त श स त र, आच रश स त र
  • स ह त य अक दम प रस क र भ रत म एक स ह त य क सम म न ह ज स ह त य अक दम प रत वर ष भ रत क अपन द व र म न यत प रदत त प रम ख भ ष ओ म स प रत य क
                                     
  • ह अक दम क सदस य स ह त य अक दम य क सदस य एव स म ज क क र यकर त ओ स ह त य और भ ष क प र फ सर प र व न ब ल स ह त य प रस क र व ज त ओ और ल खक
  • ल क सह त य क अभ प र य उस स ह त य स ह ज सक रचन ल क करत ह ल क - स ह त य उतन ह प र च न ह ज तन क म नव, इसल ए उसम जन - ज वन क प रत य क अवस थ
  • ह वर मम न क ल म स ह त य क स म ए और व स त त ह ई ह और हर व च र क ल खक अपन - अपन ढ ग स उर द स ह त य क द सर स ह त य क बर बर ल न म लग
  • त ल ग स ह त य क व भ जन न म नल ख त च र क ल म क य ज त ह - 1 प र णक ल, 2 क व यक ल, 3 ह र सक ल, और 4 आध न कक ल क छ ल ग त ल ग स ह त य क व भ जन
  • मर ठ स ह त य मह र ष ट र क ज वन क अत य त स पन न तथ स द ढ उप ग ह मर ठ स ह त य क प र र भ क रचन ए यद यप 12व शत स उपलब ध ह तथ प मर ठ भ ष
  • 13व शत ब द क ब च क म ख क स ह त य य त जनप र य ल कग त और ल कग थओ क ह य न त वचन तथ म त र क यह स ह त य बह त ब द म ल प बद ध ह आ असम य
  • व द क स ह त य क क च त पर चय म लत ह परन त तन त र स ह त य क त लन म उपलब ध व द क स ह त य एक प रक र स स ध रण म ल म पड त ह त त र क स ह त य क
  • स ब ध ल क र प ल भ ष प र क त स ह त य स स क त स ह त य ह न द स ह त य भ रत क भ ष ए प ल ग रन थ सम त प ल ट क स ट स स यट प ल स ह त य क इत ह स ग गल प स तक 
  • ह न द स ह त य क श ह न द स ह त य एव उसस सम बन ध त व षय क व श वक श encyclopedia ह द भ ग म प रक श त इस क श क प रध न सम प दक ध र न द र वर म
                                               

साधु भाषा

बांग्ला साहित्य के सन्दर्भ में साधु भाषा उस ऐतिहासिक भाषा-शैली का नाम है जो १९वीं और २०वीं शताब्दी के साहित्यिक कृतियों में प्रयुक्त हुई। उदाहरण के लिए, बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय द्वारा रचित आनन्द मठ की भाषा, साधु भाषा है। साधु भाषा का उपयोग केवल लिखित रूप में ही होता था। इससे भिन्न भाषा को चलित भाषा कहते हैं जो बोलने और लिखने में एकसमान रहती है।

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →