पिछला

ⓘ रैखिक क्रमादेशन. गणित में रैखिक प्रोग्रामन इष्टतमीकरण की एक तकनीक है जिसमें लक्ष्य-फलन भी रैखीय होता है तथा शर्तें भी रैखिक होतीं हैं। किन्तु इसका कम्प्यूटर प्र ..

रैखिक क्रमादेशन
                                     

ⓘ रैखिक क्रमादेशन

गणित में रैखिक प्रोग्रामन इष्टतमीकरण की एक तकनीक है जिसमें लक्ष्य-फलन भी रैखीय होता है तथा शर्तें भी रैखिक होतीं हैं। किन्तु इसका कम्प्यूटर प्रोग्रामन से कोई सम्बन्ध नहीं है।

                                     

1. इतिहास

सन १९३९ में लिओनिद कान्तोरोविच Leonid Kantorovich ने प्रथम रैखिक प्रोग्रामन समस्या निर्मित की थी। उन्होने इस समस्या के हल की विधि भी प्रस्तुत की थी। उन्होने इसे द्वितीय विश्वयुद्ध के समय विकसित किया था जिसका उद्देश्य युद्ध में सेना के खर्चे को कम करना था।

                                     

2. मानक स्वरूप

मानक रूप Standard form, रैखिक क्रमादेशन समस्या के वर्णन का सबसे अच्छा तरीका है। रैखिक प्रोग्रामिंग की समस्या के तीन भाग होते हैं।

  • एक रैखिक फलन का अधिकतमीकरण linear function to be maximized
जैसे f x 1, x 2 = c 1 x 1 + c 2 x 2 {\displaystyle fx_{1},x_{2}=c_{1}x_{1}+c_{2}x_{2}}
  • समस्या की शर्तें Problem constraints, जो कुछ इस प्रकार के होते हैं-
जैसे a 11 x 1 + a 12 x 2 ≤ b 1 a 21 x 1 + a 22 x 2 ≤ b 2 a 31 x 1 + a 32 x 2 ≤ b 3 {\displaystyle {\begin{matrix}a_{11}x_{1}+a_{12}x_{2}&\leq b_{1}\\a_{21}x_{1}+a_{22}x_{2}&\leq b_{2}\\a_{31}x_{1}+a_{32}x_{2}&\leq b_{3}\\\end{matrix}}}
  • वे चर जिनका मान केवल धनात्मक हो सकता है Non-negative variables
जैसे. x 1 ≥ 0 x 2 ≥ 0 {\displaystyle {\begin{matrix}x_{1}\geq 0\\x_{2}\geq 0\end{matrix}}}

रैखिक क्रमादेशन की समस्या को प्रायः मैट्रिक्स के रूप में अभिव्यक्त किया जाता है, तब समस्या का रूप यह हो जाता है-

max { c T x | A x ≤ b ∧ x ≥ 0 } {\displaystyle \max\{\mathbf {c} ^{\mathrm {T} }\mathbf {x} \;|\;A\mathbf {x} \leq \mathbf {b} \land \mathbf {x} \geq 0\}}

अन्य प्रकार की रैखिक क्रमानुदेशन समस्याएं हमेशा उपरोक्त मानक रूप में बदलकर लिखी सकतीं हैं।

                                     

2.1. मानक स्वरूप उदाहरण

मना दो चरों x 1 {\displaystyle x_{1}} तथा x 2 {\displaystyle x_{2}} के रैखिक फलन G का अधिकतम मान निकालना है-

G x 1, x 2 = 300 x 1 + 500 x 2. {\displaystyle Gx_{1},x_{2}=300x_{1}+500x_{2}.}

किन्तु, उपरोक्त फलन का अधिकतम मान निकालते समय निम्नलिखित शर्तों का पालन भी होना चाहिये-

x 1 + 2 x 2 ≤ 170 x 1 + x 2 ≤ 150 3 x 2 ≤ 180 {\displaystyle {\begin{alignedat}{3}x_{1}&+&2x_{2}&\leq 170\\x_{1}&+&x_{2}&\leq 150\\&&3x_{2}&\leq 180\end{alignedat}}}

इन शर्तों के साथ यह भी ध्यान रखना है कि दोनों चर ऋणात्मक मान नहीं ले सकते, अर्थात् x 1, x 2 ≥ 0 {\displaystyle x_{1},x_{2}\geq 0}

इस समस्या का हल सामने के ग्राफ से हो जाता है। ग्राफ में नीली रेखा में बने बहुभुज के किसी शीर्ष पर ही उपरोक्त फलन G का मान अधिकतम होगा। एक-एक करके जाँचने पर पता चलता है कि x1=130 तथा x2=20 रखने पर G का मान अधिकतम 49000 प्राप्त होता है।

                                     
  • थ इस व ध क क स म प ल क स व ध इसल य पड ह क य क यह व ध स म प ल क स क स द ध न त पर आध र त ह र ख क क रम द शन इष टतम करण गत क क रम द शन
  • स म त क अत र क त उपय ग करक गणन म लगन व ल समय क बचत क ज त ह र ख क क रम द शन ल न यर प र ग र म ग इष टतम न य त रण Optimal control इष टतमकरण समस य
                                     
  • discrete र ख क द व घ त य अर ख क linear, quadratic and nonlinear श न य, एक, द य बह - लक ष य समस य ए None, One or Many Objectives र ख क क रम न श लन
  • स गठन त मक लच ल पन क क र ब र क प रक र य क गत क त ज कर बढ त ह र ख क क रम द शन ज स तकन क य क प रय ग करक चक र क ल और म लस च स तर क कम क य ज
  • प र स सर क स थ, ख ड एक 32 - bit व ल र ख क प ष ठन व ल ऐडर स स प स म स थ त रहत ह इसल ए खण ड क उस र ख क प ष ठन व ल ऐडर स स प स क भ तर और ब हर

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →