पिछला

ⓘ मेटकाफ हॉल मेटकाल्फ हॉल में एक विरासत इमारत है जो कि भारत के कोलकाता शहर के व्यापार जिले के केंद्र में कतरा सड़क और हेयर स्ट्रीट के संगम पर स्थित है. इसकी वास्त ..

मेटकाफ हॉल
                                     

ⓘ मेटकाफ हॉल

मेटकाफ हॉल मेटकाल्फ हॉल में एक विरासत इमारत है जो कि भारत के कोलकाता शहर के व्यापार जिले के केंद्र में कतरा सड़क और हेयर स्ट्रीट के संगम पर स्थित है. इसकी वास्तुकला में उन्नीसवीं सदी के मध्य में प्रचलित ब्रिटिश शाही वास्तुकला पर आधारित है प्राचीन ग्रीक मंदिरों से मेल खाती है. यह 1840-1844 के बीच सिटी मजिस्ट्रेट सी. रॉबिन्सन द्वारा तैयार किगए डिजाइन के अनुसार बनाया गया था, और इसका नाम भारत के गवर्नर-जनरल सर चार्ल्स Theophilus मेटकाफ के नाम में प्रेस की स्वतंत्रता जोड़ा जा करने के लिए उनके योगदान के सम्मान में रखा गया था । इस भवन के पश्चिम की ओर हुगली नदी पर स्थित है.

                                     

1. इतिहास. (History)

सर चार्ल्स Theophilus मेटकाल्फ, लॉर्ड विलियम Bentinck के बाद भारत के गवर्नर जनरल बने थे और 1835 से लेकर 1836 तक इस पद है, हालांकि अपने इस अल्पावधि में वे अंग्रेजों द्वारा भारतीय प्रेस पर लगागए सभी का परित्याग उठाया गया था, जो कि प्रेस की स्वतंत्रता की दिशा में बड़ा कदम था. Metcalfe हॉल बनाने का विचार पहली बार के सुप्रीम कोर्ट के एक वकील लाउंज क्लार्क दिया था.

Metcalfe हॉल के निर्माण के लिए, 1838 में एक समिति का गठन किया गया था और प्रस्तावित हॉल के लिए स्थान का चुनाव भी हो सकता है. यह जगह एक कुलीन बंगाली Harinarayan सेठ भी राज्य के स्वामित्व था और जो ईस्ट इंडिया कंपनी के समर्थन से राज्य धन कमा रहा था. इमारत की नींव का पत्थर पर 19 दिसंबर 1840 था. डिजाइन के ग्रीस के मंदिर जैसा दिखता था.

प्रारंभ में, इस इमारत, कलकत्ता पब्लिक लाइब्रेरी संग्रह आम तौपर इस्तेमाल किया गया है, जो का गठन तत्कालीन गवर्नर जनरल लार्ड मेटकाफ द्वारा फोर्ट विलियम कॉलेज के पुस्तकालय से 4.675 क्षेत्रों पुस्तकों के लिए स्थानांतरित कर दिया था. निजी सहयोग से गठित इस पुस्तकालय में ले जाने की मात्रा और दान से थे अन्य पुस्तकों का पता लगाएं बनाया गया था. कवि रवींद्रनाथ टैगोर के दादा, Dwarkanath टैगोर कलकत्ता पब्लिक लाइब्रेरी, पहली रखवाले के अनुबंध थे. इसके बाद, सतह में एशियाटिक सोसाइटी की दुर्लभ पत्रिकाओं और पांडुलिपियों खंड बनाया गया है, जबकि पहली मंजिल के कमरे में कार्यालय, प्रदर्शनी दिर्हाम और भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के एक बिक्री काउंटर बनाया गया है.

शब्दकोश

अनुवाद