पिछला

ⓘ १९७१ का बांग्लादेश का नरसंहार. बांग्लादेश में यह नरसंहार 26 मार्च 1971 को ऑपरेशन सर्चलाइट के साथ शुरू हुआ। इस ऑपरेशन के द्वारा बंगालियों के आत्मनिर्णय के अधिकार ..

१९७१ का बांग्लादेश का नरसंहार
                                     

ⓘ १९७१ का बांग्लादेश का नरसंहार

बांग्लादेश में यह नरसंहार 26 मार्च 1971 को ऑपरेशन सर्चलाइट के साथ शुरू हुआ। इस ऑपरेशन के द्वारा बंगालियों के आत्मनिर्णय के अधिकार की मांग को दबाने के लिए तत्कालीन पश्चिमी पाकिस्तान ने पूर्वी पाकिस्तान पर सैनिक कार्र्वाई शुरू कर दी। इसके चलते पूर्वी बंगाल के लोगों ने मुक्ति संग्राम चलाया जिसे बर्बरतापूर्वक दबाने के लिए पाकिस्तानी सेना और जमात-ए-इस्लामी के कट्टर इस्लामी लड़ाकों ने भयंकर नरसंहार किया। इसमें ३ लाख से ३० लाख तक अनुमानित संख्या में लोगों की नृशंश हत्या की गयी। इसके अलावा २ लाख से ४ लाख के बीच बंगाली महिलाओं के साथ बलात्कार किया। महिलाओं के विरुद्ध किगए अपराधों को जमाते-इस्लामी का समर्थन प्राप्त था। जमात के नेताओं ने गोषणा की थी की बंगाली महिलाएँ सार्वजनिक सम्पत्ति हैं। इस संघर्ष के कारण ८० लाख से १ करोड़ के बीच लोग बांग्लादेश से भागकर भारत की शरण में आ गए, जिनमें से अधिकांश हिन्दू थे। अनुमान है कि लगभग ३ करोड़ असैनिक लोग इस संघर्ष में विस्थापित हुए। इस दौरान बंगालियों और उर्दूभाषी बिहारियों के बीच भी हिंसा हुई।

शब्दकोश

अनुवाद