पिछला

ⓘ नैतिक संकट. अर्थशास्त्र में, नैतिक संकट तब होता है जब कोई व्यक्ति स्वयं बीमाकृत होने पर अधिक जोखिम उठाता है, खासकर किसी दूसरे जोखिम लेने वाले व्यक्ति को देखकर। ..

नैतिक संकट
                                     

ⓘ नैतिक संकट

अर्थशास्त्र में, नैतिक संकट तब होता है जब कोई व्यक्ति स्वयं बीमाकृत होने पर अधिक जोखिम उठाता है, खासकर किसी दूसरे जोखिम लेने वाले व्यक्ति को देखकर। व्यक्ति ऐसा इसलिए कर पाता है क्योंकि कोई और उन जोखिमों की लागत का वहन कर रहा होता है। इसका एक उदाहरण वह परिदृश्य हो सकता है जहां वित्तीय लेनदेन होने के बाद एक पार्टी कोई ऐसा बदलाव करे जो कि दूसरे के कार्य में प्रतिबंध डाले।

एक पार्टी इस बारे में निर्णय लेती है कि कितना जोखिम लेना है, जबकि दूसरी पार्टी लागतों को वहन करती है- अगर परिणाम बुरा आए, तो जोखिम लेने वाली पार्टी उससे अलग बर्ताव करने लगती है जैसा वह तब करती जब जोखिम उसे स्वयं उठाना पड़ता।

नैतिक जोखिम एक प्रकार की सूचना विषमता के तहत भी हो सकता है, जहां लेनदेन के लिए जोखिम लेने वाली पार्टी जोखिम के परिणाम भुगतने वाली पार्टी की तुलना में अपने इरादों के बारे में अधिक जानती है। मोटे तौर पर, नैतिक संकट तब हो सकता है जब पार्टी अपने कार्यों या इरादों के बारे में अधिक जानकारी के साथ कम जानकारी वाली पार्टी के दृष्टिकोण से अनुचित व्यवहार करने की प्रवृत्ति रखती है या उसे कहीं से ऐसा करने का प्रोत्साहन मिल रहा हो।

                                     
  • स भर औद य ग क मजद र क ह ल त, शहर - कस ब ई और न म नवर ग क स म ज क - न त क स कट धर म और ज त म ज ड र ढ य - य सभ उनक कह न य क व षय रह ह
  • द ष ट क ण क अ तर गत न त क म ल य पर बल द य गय ह अत यह म नत ह क र ज य क मध य अच छ स ब ध ह त शक त क नह बल क न त क म ल य क आवश यकत
  • स द ध त क ऐस स द ध त क र प म वर ग क त करत ह ज न ह अपन न त क स तर और न त क महत व क ल ए क छ न श च न त म पद ड पर खर उतरन आवश यक ह त ह ज स
  • ज न स अध क ल न स र क सक ज सस ब क सम द य क ल ए द र घ वध क आप र त स कट म न आ ज ए प र क त क स स धन प रब धन क स ब ध म यह स म ज क द व ध अक सर
  • ह उसन अपन न य य स द ध न त क न त क आध र प रद न करत ह ए क ण ट क अन ग रह स व क र क य ह र ल स न क ण ट क न त क प रस थ पन ओ क मदद स उपय ग त व द
  • गर भप त व दव व द, उत प र र त गर भप त क न त क क न न और ध र म क स थ त क आसप स चल रह व व द ह बहस म श म ल द न पक ष अपन क अध क र - समर थक प र - च इस
  • सरक र क लर क थ व सद आमदन स अध क, खर च करत थ और इस क रण आज वन आर थ क स कट झ लत रह जब वह छ ट थ उनक प त ऋणग रस त ह न क क रण ज ल गए और ड क स
  • और बम क स थ घ स गए और एक हमल करन व ल व यक त क प स तलव र भ थ ब धक स कट क द र न त न म ग रख गय जम त - उल - म ज ह द न क न त ख ल द स फ ल ल क
  • ह ज नस श त एव स रक ष क स कट क आश क ह उपर य क त व षय पर मह सभ क प रस त व आद श त मक नह ह पर त अपन न त क बल एव व श व जनमत क न र द शक
  • म र क स प र स चल गय वह उसन द य स फ र ज स श ज रब शर पत र म ह ग ल क न त क दर शन पर अन क ल ख ल ख 1845 म वह फ र स स न ष क स त ह कर ब र स ल स चल
  • उसक न त क दर शनश स त र क व भ ग ध यक ष बन द य गय स म थ क ल खन और अध य पन क क र य सतत र प स चल रह थ सन 1759 म उसन अपन प स तक न त क अन भ त य
                                     
  • और उन व च र क समर थन म क य ज त थ ज नक लक ष य सम ज क आर थ क और न त क आध र क बदलन थ और ज ज वन म व यक त गत न य त रण क जगह स म ज क न य त रण
  • द न पड सन ई. म इनक प त क म त य ह गई ज सस पर व र क आर थ क स कट और भ अध क बढ गय स ई. म इन ह न श र मत एल ज ब थ प र टर न म
  • न इस बकव स कह क न त अ तर र ष ट र य क टन त क क ष त र म सद च र और न त क म ल य क उत पन न कर उनक प र त स ह त करन क यह श र ष ठ प रय स थ
  • प र रक और प र य न र रह वन द म तरम भ रत व स य क अन तर भ वन इस न त क आध र पर भल प रक र स व क र कर च क थ सन 1911 क 12 द सम बर क द ल ल
  • प रभ व न त ह आदर शव द क ग र स प र ट क म ख य एज ड ह सद च र एव न त क म ल य क स थ पन तथ प र र थन पर बल एव न गलत कर ग न गलत बर द श त
  • ह न क पत चल प ण ड व न क रव स अपन र ज य म ग परन त ग हय द ध क स कट स बचन क ल ए य ध ष ठर न क रव द व र द ए खण डहर स वर प ख ण डववन आध र ज य
  • और ऋण स कट क द र न म तव यय त क उपन ह त स उन म क त कर द य ज द सर ऋणद त ओ क ज ख म ऋण द न क ल ए उत स ह त कर सकत थ और इस प रक र न त क ज ख म
  • ह ज नम न यक प रत क ल पर स थ त य और शक त य स स घर ष करत ह आ तथ स कट झ लत ह अ अन त म व नष ट ह ज त ह बह त क मत ह क ट ज ड क कथ वस त
  • र ष ट रधर म प रक शन आर थ क स कट म फ स गय त उन ह न अपन प त ज स आग रह करक अपन ह स स क धनर श द कर र ष ट रधर म प रक शन क स कट स उब र यह थ उनक
  • ह त ह प ज व द क कभ क ई न श च त पर भ ष स थ र नह ह ई द श, क ल और न त क म ल य क अन स र इसक भ न न - भ न न र प बनत रह ह प ज व द क इत ह स
  • पर स थ त स पर भ त ह कर ह अपर ध क ओर अग रसर ह त ह यथ अर थ य न त क स कट क स क द सर क स पत त क अपहरण करन क प र त स ह त कर सकत ह व क ष प तत
                                     
  • उद द श य और प श क प रत समर प त ल ग आच र, न त कत और व ज ञ न क क रण क आध र पर वर तम न ज व व व धत स कट क प रत व श व क प रत क र य क ल ए प रव करत
  • श न यव द ज र द कर कहत ह ह क न त कत स व भ व क र प स म ज द नह ह त तथ क स भ प रक र क स थ प त क य गए न त क म ल य क त र म र प स बन य गय ह
  • म सम बन ध - व च छ द ह गय तल क क पश च त एन ब स न ट क गम भ र आर थ क स कट क स मन करन पड और उन ह स वत त र व च र सम बन ध ल ख ल खकर धन प र जन
  • व च रध र क न च ड ल इसल ए जनत न उन ह स व क र कर ल य आर थ क स कट जर मन म आर थ क स कट क चलत भ ह टलर क उत थ न ह आ वर स य क स ध क फलस वर प जर मन
  • स घर ष करत ह त वह एक सक र त मक न त क शक त बन ज त ह और जब र ष ट र क न म पर आक रमण क क र रव ई क ज त ह त उसक न त क बच व नह क य ज सकत   र ष ट रव द
  • क र त क श र आत चरण म जब इ ग ल ड स म ज क - आर थ क पर वर तन क क रण ग भ र स कट क स मन कर रह थ एक प रभ व स गठ त प ल स स व क आवश यकत क क फ महस स
  • व न श अवश य करन च ह ए ग अपन उद द श य क स द ध क ल ए क स भ स धन, न त क य अन त क, क आश रय ल न अन च त नह ह म क य वल और क ट ल य द न क मत
  • अवध रण ए व भ न न व यक त य और व भ न न स दर भ म म खर रह ह व भ न न न त क न ह त र थ क स थ धन क पर भ ष त करन एक आदर श प रक र य ह सकत ह क य क

शब्दकोश

अनुवाद