पिछला

ⓘ चौरासी मंदिर हिमाचल प्रदेश के चम्बा ज़िले के भरमौर शहर के बीच स्थित एक हिन्दू धार्मिक स्थल है। यह लगभग 1400 वर्ष पुराना है। इसमें एक केन्द्र की परिमिति पर शिवलि ..

चौरासी मंदिर
                                     

ⓘ चौरासी मंदिर

चौरासी मंदिर हिमाचल प्रदेश के चम्बा ज़िले के भरमौर शहर के बीच स्थित एक हिन्दू धार्मिक स्थल है। यह लगभग 1400 वर्ष पुराना है। इसमें एक केन्द्र की परिमिति पर शिवलिंग पर आधारित चौरासी मंदिर बने हुए हैं जिनके कारण इसका नाम पड़ा। इनके बीच पारम्परिक उत्तर भारतीय शिखर वास्तुशैली में बना मणिमहेश मंदिर है। चौरासी मंदिर भरमौर का एक महत्वपूर्ण धार्मिक और सांस्कृतिक केन्द्र है।

माना जाता है कि भरमौर के राजा सहिल वर्मन ने मंदिर का निर्मान 84 सिद्धकों के नाम पर करवाया था। यह योगीजन कुरुक्षेत्र से आए थे और मणिमहेश झील व मणिमहेश कैलाश पर्वत के दर्शन के लिए जा रहे थे। रास्ते में वे भरमौर में रुके और वहाँ साधना करी। उन्होंने निःसंतान राजा को दस पुत्रों और एक पुत्रि का वरदान दिया। आस्था है कि मणिमहेश झील का तीर्थ इस मंदिर के दर्शन करे बिना पूरा नहीं होता। यह मंदिर शिव और शक्ति को समर्पित है।

                                     
  • महत व ह और यह चम ब क प र च न र जध न ह आ करत थ शहर क ब च स थ त च र स म द र लगभग 1400 वर ष प र न ह और नगर क स स क त क क न द र ह चम ब ज ल
  • यह पर च र स ध न स थ प त कर स धन और तपस चर य क और ब रह म ज क एक एक ध न क एकल ख मह म क बत य तथ च र स ध न क प रत स वर प च र स ल ख य न य
  • छ ट - बड अस ख य त र थ ह क मवन अपन च र स क ड च र स खम भ और च र स म द र क ल ए ज न ज त ह 84 त र थ, 84 मन द र 84 खम भ आद र ज क मस न न बनव य
  • प रत य क गढ म कम स कम च र स ग व ह न अन व र य थ त ल ल क म ग व क स ख य च र स स अध क त ह सकत थ क न त च र स स कम कद प नह ह सकत
  • चलन पर क रम य प रदक ष ण कहल त ह मन द र नद पर वत आद क पर क रम क प ण यद य म न गय ह च र स क स पर क रम प चक स पर क रम आद क व ध न
  • ज त ह म ख य ल ख - च र स म द र च रस य म द र क न म इसक पर सर म स थ त 84 छ ट - छ ट म द र क आध र पर रख गय ह यह म द र भरम र य ब रह मप र न मक
  • भ प र प त ह त ह प र ण म ब रज च र स क स क पर क रम क व श ष महत व बत य गय ह कह गय ह ब रज च र स क स क पर क रम क लग न स एक - एक कदम
  • च प वत क आश र व द द य थ यह बन म द र क च र स न म स ज न ज त ह लक ष म द व गण श और नरस ह म द र च र स म द र क अन तर गत ह आत ह भरम र स
  • बर ष तक ज न धर म क आच र य परम पर क न र व ह क य और अन त म मथ र च र स स न र व ण प र प त क य प रम णस गर, म न ज न धर म और दर शन, न र ग र थ
  • श त न थ, क न थ न थ और अरहन थ त र थ कर क गर भ, जन म और तप कल य णक ह ए ह च र स मथ र शहर स ड ढ म ल यह स जम ब स व म म क ष गए ह श र प र श क ह ब द
  • स प रद य क व य पक र प स प रच र स भव ह आ इनक च थ प त र ग स ई ग क लन थ न च र स व ष णवन क ब र त तथ द स ब वन व ष णवन क व र त क प रणयन क य क छ व द व न
                                     
  • यह एक म द र क स थ पन क म द र म एक बड म डप ह और च क इसम क ई ख भ नह ह अत: यह तत क ल न पत थर व स त कल क ख ज क उद हरण ह म द र क न र म ण
  • द वत ओ क जग न ह त ज गर लग त ह ज गर मन द र अथव घर म कह भ क य ज त ह ज गर ब इस तथ च र स द प रक र क ह त ह ब इस ब ईस द न तक
  • मह र ज क सम ध क वजह स ल कप र य ह म ख य सड क स त र थ तक 84 म ड ह ज च र स ल ख य न य क म क त क प रत क ह द श क व व ध ह स स स श रद ध ल यह
  • न प प जन म य ज ब द ध म द र ज क द र ज ल ग म ह भ इनम स एक ह इस म द र क न र म ण क र य ई. म श र ह आ थ यह म द र नवम बर ई. क आम
  • जन मन श द र ह त ह ए भ वल लभ च र य क क प - प त र थ और म द र क प रध न ह गए थ च र स व ष णव क व र त क अन स र एक ब र ग स ई व ट ठलन थज स
  • म ब न ब द लख ड म ज ह स ब स बह त स ब ल चलन म ह ज स ड घ ई, च र स पव र व द शय य व द श ज ल म ब ल ज न व ल आद ब द लख ड क प ट पद धत
  • ब द ध क व श ल आगमन ह आ, ज सम व श ल क प रस द ध नगरवध आम रप ल सह त च र स हज र न गर क स घ म श म ल ह ए व श ल क सम प क ल ह आ म भगव न ब द ध न
  • इल क म बस ह आ ह इसक पश च म भ ग म अन क प र च न मकबर ह ज न ह च र स ग बज कह ज त ह यम न क य ब हड भ भ ग नगर क प र च न एव आध न क बस वक रम
  • सर व ध क प ज य न थ और ब द ध स द ध च र य क न म म सम म ल त क ए गय ह च र स स द ध क न म न म नल ख त ह म नन थ ग रक ष न थ च रङ ग न थ च मर न थ तन त प
  • ब रह म ज क मन द र एव उनक द न पत न य स व त र और ग यत र ज क मन द र स थ त ह यह पर अख ल भ रत य म घव श मह सभ क ब ब र मद व मन द र स थ त ह एव
  • इत ह स म अभ नव व अद भ त क र न त उत पन न क ह तज न ब रज भ ष म ह त च र स व स फ ट व ण एव स स क त भ ष म र ध स ध न ध व यम न ष टकन मक ग र थ क
  • क प रस द ध कव थ य परम न दद स ज क समक ल न थ क म भनद स क चर त च र स व ष णवन क व र त क अन स र स कल त क य ज त ह क म भनद स ब रज म ग वर धन
                                     
  • क ल ज, एक ह ईस क ल तथ अन य श क षण क गत व ध य चल रह ह स द ध क ष त र च र स मथ र क व क स अत शय क ष त र अक क ब ट, व द य स गर म ग र, मछल दतव ड
  • व ष णव स त और कव य क ब रजभ ष गद य म अ क त ज वनचर त क द स ग रह च र स व ष णवन क व र त और द स ब वन व ष णवन क व र त अपन ढ ग स ब ज ड
  • श र र जक म र न त यग प लज क ट क क उल ल ख ह श र वल लभ च र यज क च र स श ष य क अल व अनग नत भक त, स वक और अन य य थ उनक प त र श र व ट ठलन थज
  • ब द ध क व श ल आगमन ह आ ज सम व श ल क प रस द ध नगरवध आम रप ल सह त च र स हज र न गर क स घ म श म ल ह ए व श ल क सम प क ल ह आ म मह त म ब द ध
  • क ष ण क न ज स ब ध क स थ ज ड ह न क ल ए उल ल खन य थ अपन कव त च र स पद म और अपन अन य य य क ट प पण य म ज र द य ज त ह अन त ल ल
  • ब ल यक ल क क छ वर ष ब त ए वह मह बन क प रम ख प रस द ध म द र ह प ल र ग क इस इम रत क अ दर च र स ख भ ह ज न पर क ष ण क ब ल यक ल क अन क आक त य
  • मथ र क ब च न यम त बस स व ए ह ब रज क प र ण क क ल स चल आ रह च र स क स पर क रम क ह भ ग ह भरतप र, जह क अध क श भ म समतल म द न ह

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →