पिछला

ⓘ रमाकान्त राय. गाजीपुर, उत्तर प्रदेश में जन्म। प्रारम्भिक शिक्षा दक्षिण 24 परगना, पश्चिम बंगाल से। उच्च शिक्षा इलाहाबाद विश्वविद्यालय, प्रयागराज से। भारतवादी। यु ..


                                     

ⓘ रमाकान्त राय

गाजीपुर, उत्तर प्रदेश में जन्म। प्रारम्भिक शिक्षा दक्षिण 24 परगना, पश्चिम बंगाल से। उच्च शिक्षा इलाहाबाद विश्वविद्यालय, प्रयागराज से।

भारतवादी। युवा आलोचक और चिंतक। प्राध्यापक। हिन्दू-मुस्लिम रिश्तों के बहाने राही के उपन्यास शीर्षक पुस्तक लोकभारती प्रकाशन, प्रयागराज, उत्तर प्रदेश से प्रकाशित। डॉ रमाकान्त राय के राही मासूम रज़ा पर केंद्रित शोधकार्य को भारतीय सामाजिक विज्ञान अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली से अनुदानित किया गया है। उन्होंने साम्प्रदायिकता पर उल्लेखनीय काम किया है। उनका साम्प्रदायिकता, दंगे और महिलाओं की बदलती भूमिका विषयक लेख बहुचर्चित हुआ है। उन्होंने विभिन पत्र-पत्रिकाओं और पुस्तकों के लिए आलेख लिखे हैं। दूरदर्शन और आकाशवाणी पर साहित्यिक वार्ताओं की प्रस्तुति उनकी विशेष उपलब्धि है। दूरदर्शन उत्तर प्रदेश पर कुबेरनाथ राय और राही मासूम रज़ा को केंद्रित कर लिगए दो साक्षात्कार बहुत महत्त्व के हैं। डॉ रमाकान्त राय ने आकाशवाणी, इलाहाबाद के लिए एक दर्जन से अधिक साहित्यिक वार्ता कार्यक्रम किया है। कुम्भ वाणी, प्रयागराज के लिए आपने डॉ जयराम त्रिपाठी, डॉ मुदिता तिवारी और श्री ओम प्रकाश द्विवेदी के साथ एक विचारोत्तेजक परिचर्चा का संचालन किया है। आपने जनसंदेश टाइम्स समाचार पत्र के लिए भी लेख लिखे हैं। डॉ राय के शोध पत्और आलोचनात्मक आलेख प्रतिष्ठित पत्रिका आलोचना, वागर्थ, वाङ्गमय, पक्षधर, अनहद, पुस्तक वार्ता आदि में प्रकाशित हुए हैं। आपने पत्र पत्रिकाओं में निरन्तर लेखन कार्य जारी रखा है। वह मेरा गाँव मेरा देश नाम से एक ब्लॉग भी चलाते हैैं।

बाहरी कड़ियाँ-

  • रस आखेटक: ललित निबन्ध का रम्य दारुण स्वर
  • पहली बार ब्लॉग पर आलेख
  • पुस्तक वर्ग
  • मेरा गांव मेरा देश
                                     
  • ट न स ख ल ड एव भ तप र व ऑस ट र ल य ई ओपन प र ष एकल व ज त ड रम क न त र य 1856 - स व म श रद ध नन द - न रजह - प म ल पत व कट नरस ह
  • म म बई स थ त एक मह व द य लय ह ज सक स थ पन म ह ई थ ऐश वर य र य बच चन अभ न त र अज त आगरकर क र क ट ख ल ड अन ल क क डकर व ज ञ न क अ तर
  • आय द ध प रस द अत ल श र व स तव - ज ग श वर प रस द रम क त द यम - भ वन श वर र य म न म र - इ द र य प यल क म अक षर स ह - ग लक द प यल क नन द
  • सरस वत सम म न क आर भ म क य गय थ पहल सरस वत सम म न ह द क स ह त यक र ड हर व श र य बच चन क उनक च र ख ड क आत मकथ क ल ए द य गय थ
  • और ह द क प रभ व भ थ ड बह त म लत ह इस क ल क प रध न कव र ध न थ र य ह य स क ल इ स प क टर थ इनपर अ ग र ज स ह त य क प रभ व स पष ट ह इनक
  • सरक र  ब द य स गर : रजन क न त ग प त  ईश बरचन द र ब द य स गर : रम क न त चक रबर त सम प द त शतबर ष स मरण क : ब द य स गर कल ज, - : ब द य स गर
  • दय लचन द र स न मरण पर त ठ प रन स ह स म त स त र सम म न : र ख रम क न त स म त सम म न : ओम शर म ह न द स व सम म न : स व त त व र क य ट
  • पत रक र त क श र आत ब ग ल स ह ई और इसक श र य र ज र मम हन र य क द य ज त ह र ज र मम हन र य न ह सबस पहल प र स क स म ज क उद द श य स ज ड भ रत य
  • क स थ पन क गय उन ह न ल ल ह सर ज, ग र दत त व द य र थ ल ल ल जपत र य क स थ म लकर सन 1886 ई म ल ह र म प रथम ड ए व स क ल एव ड ए व
  • आदम - कमल श वर त सर आदम - कमल श वर त सर द श - रम क त त सर द श - रम क न त त सर द श - रम क त त सर पत थर - र म क म र भ रमर त सर पहर - धनर ज च धर
                                     
  • स त स त र - जय प रक श चमच ग र - ड बरस न ल ल चमत क र व ज ञ न क - जमत र य आच र य चम प कल - ऋषभचरण ज न चर द आर - न र मल शर म चरण कमल - च द रक त
  • प र फ सर श क क क रन म - सत यज त र य प र ढ श क षण - नर श च द र फ ड म न टल र इट स - ड शश प म श र फर ज अदव - रम क त फल त ज य त ष - ड न र यण दत त
  • स व कर न टक भ रत अमरन थ झ स ह त य एव श क ष उत तर प रद श भ रत ज म न र य कल पश च म ब ग ल भ रत क एस क ष णन व ज ञ न एव अभ य त र क तम लन ड भ रत
  • वर म अन म - अन म अन म क - श वस गर म श र अन वरण - मन ष र म अन वरण - मन ष र य अन शक त य ग - ग ध ज अन अम व त - क म र ईद र र अन त य - म द ल गर ग
  • न र व चन क ष त र न र व च त स सद र जन त क दल ल ग क डरम रव न द र क म र र य भ रत य जनत प र ट प ख ट कर य म ड भ रत य जनत प र ट प ग र ड ह
  • क श वर म क र त लक ष मण श स त र ज श अन नद श कर र य म ल कर ज आन द व न यक क ष ण ग क क तकष श वश कर प ळ ळ
  • कह न य - श र स ध र सक स न स ध ह रन - श र नवन त र य स बह क ज त - श र व ष ण प रस द चत र व द कह क स रह
  • भ रत य जनत प र ट 4 श वहर रम द व भ रत य जनत प र ट 5 स त मढ अर ज न र य जनत दल य न इट ड 6 मध बन ह क मद व न र यण य दव भ रत य जनत प र ट 7 झ झ रप र
  • रम श द व प अमरन थ क ष ण धवन रम क त ब प न ग प त र ज रणव र स ह र ज न द रन थ प र म प रक श शबनम जयश र प जयर ज एसएन र य ल ल च टन स अश क क म गज नन
  • द स ठ क रघर कह न स ग रह क ल चरण पटन यक क भ र चक र आत मकथ रम क त रथ सप तम ऋत कव त स ग रह क जब ह र द स म क ह ण आत मकथ अन त
  • त र व चकम तम ल प र य ए.एस. क ज क र य गल द ओद थमप रन उपन य स अर धत र य द ग ड ऑफ स म ल थ ग स अ ग र ज क स अजय क म र ग र उपन य स रव न द रन थ
                                     
  • क म र प रस ल क जनशक त प र ट 6 मई 2019 TBD 22 उज य रप र अन रक ष त न त य न द र य भ रत य जनत प र ट 29 अप र ल 2019 TBD 23 समस त प र अन रक ष त र म च द र प सव न
  • र ष ट र य क ग र स 63 अलवर म न अग रव ल भ रत य जनत प र ट 64 थ न ग ज रम क न त भ रत य जनत प र ट 65 र जगढ अज समर थ ल ल भ रत य जनत प र ट 66 लछमणगढ
  • मध स दन म श र प रब द ध र ष ट रम श र र मक ष ण शर म प थ य शतकम श र रम क न त श क ल भ त म भ रतम श र हर दत त शर म ग तकन दल कर, उत कल क श र

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →