पिछला

ⓘ भारतीय संविधान का बयालीसवाँ संशोधन. भारतीय संविधान का ४२वाँ संशोधन इन्दिरा गांधी के प्रधानमंत्रित्व वाली भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस द्वारा आपातकाल के दौरान किया ..

                                     

ⓘ भारतीय संविधान का बयालीसवाँ संशोधन

भारतीय संविधान का ४२वाँ संशोधन इन्दिरा गांधी के प्रधानमंत्रित्व वाली भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस द्वारा आपातकाल के दौरान किया गया था। आधिकारिक रूप से इसका नाम संविधान अधिनियम, १९७६ है। यह एक बहुत बड़ा संशोधन था और इसके अधिकांश संशोधन ३ जनवरी १९७७ से लागू हो गए। यह संशोधन भारतीय इतिहास का सबसे विवादास्पद संशोधन माना जाता है। विशेष बात यह है कि यह संशोधन इन्दिरा गांधी द्वारा लगागए आपातकाल के दौरान लाया गया था और व्यक्तिगत महत्वाकांक्षाओं की पूर्ति के लिए लाया गया था। इस संशोधन के द्वारा भारत के सर्वोच्च न्यायालय तथा उच्च न्यायालयोंकी उन शक्तियों को कम करने का प्रयत्न किया गया जिनमें वे किसी कानून की संवैधानिक वैधता की समीक्षा कर सकते हैं। इस संशोधन को कभी-कभी लघु-संविधान या कान्स्टिट्यूशन ऑफ इन्दिरा भी कहा जाता है।

                                     
  • भ रत य स व ध न क स श धन भ रत क स व ध न म पर वर तन करन क प रक र य ह इस तरह क पर वर तन भ रत क स सद क द व र क य ज त ह इन ह स सद क प रत य क
  • प रत स थ प त स व ध न बय ल सव स श धन अध न यम, 1976 क ध र - 2 द व र 3 - 1 - 1977 स र ष ट र क एकत क स थ न पर प रत स थ प त. भ रत य स व ध न भ रत क न त
  • प रत स थ प त स व ध न बय ल सव स श धन अध न यम, 1976 क ध र 57 द व र 3 - 1 - 1977 स प रव ष ट 2 क स थ न पर प रत स थ प त स व ध न बय ल सव स श धन अध न यम
                                     
  • क र न त जनत प र ट आ तर क स रक ष व यवस थ अध न यम म स भ रत य स व ध न क बय ल सव स श धन श ह आय ग कह न इ द र क सबस त क तवर न करश ह प एन हक सर
  • क 1976 म बय ल सव स श धन अध न यम द व र ड ल गय थ यह सभ धर म क प रत सहनश लत और सम न व यवह र क बढ व द त ह भ रत र ज य क क ई आध क र क

शब्दकोश

अनुवाद