पिछला

ⓘ भारत छोड़ो भाषण 8 अगस्त 1942 को भारत छोड़ो आंदोलन छेड़ते समय महात्मा गांधी द्वारा दिया गया भाषण है। इसी भाषण में उन्होंने भारतीयों से दृढ़ निश्चय के लिए आह्वान ..

भारत छोड़ो भाषण
                                     

ⓘ भारत छोड़ो भाषण

भारत छोड़ो भाषण 8 अगस्त 1942 को भारत छोड़ो आंदोलन छेड़ते समय महात्मा गांधी द्वारा दिया गया भाषण है। इसी भाषण में उन्होंने भारतीयों से दृढ़ निश्चय के लिए आह्वान करते हुए करो या मरो का नारा दिया। उनका भाषण बॉम्बे के गोवालिया टैंक मैदान पार्क में दिया गया था, जिसका नाम बदलकर अब अगस्त क्रांति मैदान रखा दिया गया है। हालाँकि, सरकार ने कांग्रेस के लगभग सभी शीर्ष नेताओं को गांधी के भाषण देने के चौबीस घंटे से अंदर गिरफ़्ताकर उन्हें जेल में डाल दिया। अन्य बहुतेरे कांग्रेस नेताओं समूचे द्वितीय विश्वयुद्ध जेल में ही रखा गया। गांधी ने यह भाषण भारत को आजादी दिलाने में मदद करने के लिए किया था।

                                     
  • भ रत छ ड आन द लन, द व त य व श वय द ध क समय 8 अगस त क आरम भ क य गय थ यह एक आन द लन थ ज सक लक ष य भ रत स ब र ट श स म र ज य क सम प त करन
  • मन त र य क व ध न क क र य म हस तक ष प नह कर ग आज द दस त - यह भ रत छ ड आन द लन क ब द क र न त क र य द व र प रथम ग प त गत व ध य थ जयप रक श
  • भ रत क ब टव र क प रबल व र ध थ ल क न म नत थ क ह न द ओ और म सलम न म मतभ द ह 1937 म इल ह ब द म ह न द मह सभ क सम म लन म एक भ षण
  • ह - ट र स ट व द ड स ट न भ षण क अ श, जव हरल ल न हर इस भ षण क 20व सद क मह नतम भ षण म स एक म न ज त ह प र भ रत म अन ठ समर पण और अप र
  • म श र ह आ थ इसक उद घ टन मह त म ग ध न क य थ क भ रत छ ड आन द लन छ ड न पर ह न द स त न लगभग म ह तक बन द रह यह स सरश प क
  • रख ह और यह पर पर आज तक चल आ रह ह वर तम न समय म प रध नमन त र क भ षण वर ष क सबस अहम र जन त क घटन म स एक म न ज त ह ज सम प रध नमन त र
  • पर च त रह ह भ रत क दर द रत म द र और व न मय, अफ म य शर ब क स वन क प र त स हन स उत पन न ह न व ल क पर ण म क व षय म उनक भ षण बड आदर और ध य न
  • 1957 क उन ह न कश म र पर भ रत क र ख क बच व करत ह ए 8 घ ट तक अप रत य श त भ षण द य क ष ण म नन द व र द य गय भ षण स य क त र ष ट र स रक ष पर षद
  • क भ षण 17 अगस त 1945 क द य गय न त ज क ऐत ह स क भ षण स ग प र म आज द ह द फ ज क स मन न त ज स भ ष चन द र ब स द व र द य गय एत ह स क भ षण द व त य
  • द य गय थ यद यप भ रत म एक ल ब समय स ब त क गई स थ त अगस त क नई द ल ल क ल ल क ल स अपन स वत त रत द वस क भ षण क द र न प रध न म त र
  • नर न द र म द क सरक र म व भ रत सरक र क अ तर गत शहर व क स, आव स तथ शहर गर ब उन म लन तथ स सद य क र य म त र ह अपन भ षण म त क न त शब द क प रय ग
  • ख ल म श च म क त भ रत ओड एफ क ह स ल करन क लक ष य रख ह प रध नम त र नर न द र म द न अपन 2014 क स वत त रत द वस क भ षण म श च लय क जर रत
                                     
  • फ ज लखर च उसक ल ग क स व करन क इच छ ह यह तक क उनक ज रद र भ षण क प छ भ ईम नद र और अपन ल ग क ल ए भ व क प य र क एक न भ क ह म झ
  • व यसर य व फल ह त ह क छ भ आपक स थ प त प रण ल क बच नह सकत यह भ षण द ढ ट र ज क द ष टक ण क प रत ब म ब त करत ह ज एक द न ल बर गवर नम ट द व र
  • बहस भ ह त थ 21 द सम बर 1963 क भ रत म भ रष ट च र क ख त म पर स सद म ह ई बहस म ड र ममन हर ल ह य न ज भ षण द य थ वह आज भ प र स ग क ह उस
  • द व त य व श व य द ध क द र न ब र ट न क मदद क थ और 1942 म उन ह न भ रत छ ड आन द लन क व र ध क य थ य न यन स ट न त स कन दर हय त ख न क म त य क
  • 1942 क ग ध ज न त न घ ट तक भ षण द कर कह क हम अपन आज द लड कर प र प त कर ग अगल द न 8 अगस त क भ रत छ ड प रस त व ब बई म बह मत स स व क त
  • नजरब द स म क त ह कर आए व र स वरकर न सन 1937 म अपन प रथम अध यक ष य भ षण म कह क ह द ह इस द श क र ष ट र य ह और आज भ अ ग र ज क भग कर अपन
  • जय ह न द व श षर प स भ रत म प रचल त एक द शभक त प र ण न र ह ज क भ षण म तथ स व द म भ रत क प रत द शभक त प रकट करन क ल य प रय ग क य ज त
  • 1666 स ख धर म ग र ग व न द स ह क जन म ह आ 1736 ए ड रय म इकल र मस न एक भ षण द य ज सम उन ह न फ र म सनर क व र सत और अ तर र ष ट र यत क क र स ड
  • फर र ख ब द क अपन ग व क उन ह छ ड न पड थ ब द म आर य सम ज क सम पर क म आकर व हर हर न द ह गए उनक भ षण कल अद भ त थ जल द ह व आर य सम ज
  • क म जफ फरनगर स ह द स घ क व व र ष क त सव क अवसर पर उन ह न अपन भ षण म इस ब त क स व क र भ क य थ प र ष त तम द स ट डन क जन म अगस त
  • म अ ग र ज क प रथम भ षण स ह प रत न ध य क मन त रम ग ध कर द न व ल म द भ ष स लवर ट ग ड म लव यज उस समय व द यम न भ रत द श क सर वश र ष ठ ह न द
  • स तर क स ग ष ठ य क र यश ल ए व च र म च, कव ग ष ठ य कव - ल खक सम दर, भ षण - म ल ओ क आय जन अन व द क क ष त र म दक षत प रद न करन स न तक त तर ड प ल म
                                     
  • व भ रत म ब र ट श श सन क व श षत: ब र ट न द व र भ रत क आर थ क श षण क अत य त कट आल चक थ व इस व षय क व भ न न पहल ओ पर ल ख ल खकर और भ षण द कर
  • कश म र छ ड कर चल ज ए - एक अन य स थ न य सम च र पत र, अल सफ न इस न ष क सन क आद श क द हर य - मस ज द म भ रत एव ह द व र ध भ षण द ए ज न
  • ज ल - प रव स क द र न उन ह न दर शन - द ग दर शन ग रन थ क रचन कर ड ल क भ रत छ ड आन द लन क पश च त ज ल स न कलन पर क स न आन द लन क उस समय क श र ष न त
  • प र ण समर थन प र प त थ अध व शन म जव हरल ल न हर न अपन प र रक अध यक ष य भ षण म कह व द श श सन स अपन द श क म क त कर न क ल य अब हम ख ल व द र ह
  • क भ रत छ ड आन द लन तक सभ सम प रद य स उभर य व स वत त रत स ग र म स न क क सबस प र रक और प र य न र रह वन द म तरम भ रत व स य क
  • एम ए और ब र - ऐट - ल क उप ध य म ल थ प ण म द य गय उनक स स क त क भ षण स प रभ व त ह कर म न यर व ल यम स न वर म ज क ऑक सफ र ड म स स क त क सह यक

शब्दकोश

अनुवाद