पिछला

ⓘ चालीसा अकाल. भारतीय उपमहाद्वीप में 1783-84 के चालीसा अकाल ने असामान्य एल नीनो घटनाओं का अनुसरण किया जो 1780 में शुरू हुआ और इसके कारण पूरे क्षेत्र में सूखा पड़ा ..


                                     

ⓘ चालीसा अकाल

भारतीय उपमहाद्वीप में 1783-84 के चालीसा अकाल ने असामान्य एल नीनो घटनाओं का अनुसरण किया जो 1780 में शुरू हुआ और इसके कारण पूरे क्षेत्र में सूखा पड़ा। अकाल के नाम में चालीसा शब्द से तात्पर्य विक्रम संवत वर्ष 1840 को संदर्भित करता है। इस अकाल ने उत्तर भारत के कई हिस्सों को प्रभावित किया, विशेष रूप से दिल्ली क्षेत्र, वर्तमान उत्तर प्रदेश, पूर्वी पंजाब, राजपूताना और कश्मीर। ये सभी उस समय अलग-अलग भारतीय शासकों द्वारा शासित थे। इससे पिछले वर्ष, 1782-83 में भी अकाल पड़ा था, जिसने दक्षिण भारत में, मद्रास शहर और उसके आसपास के क्षेत्रों और मैसूर के विस्तारित राज्य को प्रभावित किया था।

साथ मिलकर इन दो अकालों ने इतने लोग भूख से मारे/ विस्थापित किए कि इन्होंने भारत के कई क्षेत्रों में को वीरान कर डाला। उदाहरण के लिए, वर्तमान तमिलनाडु के सिरकली क्षेत्र के 17 प्रतिशत गाँव, वर्तमान के मध्य दोआब के गाँवों में 60 प्रतिशत- दिन उत्तर प्रदेश, और दिल्ली के आसपास के क्षेत्रों में ३० प्रतिशत से अधिक गाँवों में जनसंख्या कम पाई गई। इन दो अकालों में कुल १ करोड़ १० लाख मौतों का अनुमान है।

                                     

1. यह सभी देखें

  • भारत में सूखा
  • ब्रिटिश राज में परिवार, महामारी और सार्वजनिक स्वास्थ्य
  • भारत में कंपनी का शासन
  • ब्रिटिश शासन के दौरान भारत में बड़े अकाल की समय सीमा 1765 से 1947
  • भारत में अकाल
                                     

2. संदर्भ

  • Bayly, C. A. 2002, Rulers, Townsmen, and Bazaars: North Indian Society in the Age of British Expansion 1770–1870, Delhi: Oxford University Press. Pp. 530, आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-19-566345-4 Bayly, C. A. 2002, Rulers, Townsmen, and Bazaars: North Indian Society in the Age of British Expansion 1770–1870, Delhi: Oxford University Press. Pp. 530, आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-19-566345-4
  • Grove, Richard H. 2007, "The Great El Nino of 1789–93 and its Global Consequences: Reconstructing an Extreme Climate Event in World Environmental History", The Medieval History Journal, 10 1&2, पपृ॰ 75–98, डीओआइ:10.1177/097194580701000203
  • Imperial Gazetteer of India vol. III 1907, The Indian Empire, Economic, "Agrarian Society and the Pax Britannica in Northern India in the Early Nineteenth Century", Modern Asian Studies, 9 4, पपृ॰ 505–528, JSTOR 312079, डीओआइ:10.1017/s0026749x00012877
                                     

3. आगे की पढाई

  • Government of India 1867, Report of the Commissioners Appointed to Enquire into the Famine in Bengal and Orissa in 1866, Volumes I, II, Calcutta
  • Arnold, David; Moore, R. I. 1991, Famine: Social Crisis and Historical Change New Perspectives on the Past, Wiley-Blackwell. Pp. 164, आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-631-15119-2
  • Ghose, Ajit Kumar 1982, "Food Supply and Starvation: A Study of Famines with Reference to the Indian Subcontinent", Oxford Economic Papers, New Series, 34 2, पपृ॰ 368–389
  • Dutt, Romesh Chunder 2005, Open Letters to Lord Curzon on Famines Land Assessments in India, London: Kegan Paul, Trench, Trubner & Co. Ltd reprinted by Adamant Media Corporation, आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 1-4021-5115-2
  • Dyson, Time ed. 1989, Indias Historical Demography: Studies in Famine, Disease and Society, Riverdale MD: The Riverdale Company. Pp. ix, 296 सीएस1 रखरखाव: फालतू पाठ: authors list link
  • Famine Commission 1880, Report of the Indian Famine Commission, Part I, Calcutta
                                     
  • द र न भ रत म पड न व ल प रम ख अक ल क समयसर ख ह य सन 1765 स 1947 तक क क लखन ड दर श त ह इसम व सभ अक ल श म ल ह ज इस क लख ड म भ रत य
  • बच च क जन म द न स ह न व ल द ष प रभ व म गर भ वध मध म ह, गर भप त, अक ल प रसव, अस ध रण प रसव, गर भन ल म स क रमण म ख य र प स श म ल ह 20 स 29
  • क द र त ह दत त न सव ल उठ य क 1858 क ब द स च ल स स ल क अवध म भ रत क जनत क दस भ षण अक ल क स मन क य करन पड उन ह न प छ क इस द र न
  • म हनत करत थ अम नव य पर स थ त य म क म करत - करत स कड मज द र हर स ल अक ल म त मरत थ म ल क क ज ल म क कह स नव ई नह थ इस अम नव य प रथ क
  • ध व ग भ रत स एक क प रभ व खर ब ह सकत ह 1769 - 70 म ब ग ल म र क अक ल ज सम दस ल ख क ब च स त और दस ल ग क य एक च थ ई और ब च र ष ट रपत पद
  • य त र क प ज त कर ध रण कर न त य प रत हन म न च ल स पढ और भ जन लय म ब ठकर भ जन कर हन म न च ल स क 108 ब र प ठ कर और प च म गलव र क व रत करत
  • स व अपन कई महत वप र ण क र य पर ल खत रह ह अमर त य स न न उन ह अक ल और भ खमर क व श व क मह नतम व श षज ञ म स एक म न ह स ईन थ न मद र स
  • क बल और स बल, इन ज न स ध ओ क मथ र क बतल य गय ह जब यह एक ब र घ र अक ल पड थ तब मथ र क एक ज न न गर क ख ड न अन व र य र प स ज न आगम क प ठन
  • करक द खन उनक स थ अन य य करन ह ग मह द व एक सजग रचन क र ह ब ग ल क अक ल क समय म इन ह न एक क व य स कलन प रक श त क य थ और ब ग ल स सम ब ध त
  • जयक र क ऊ च स वर म न र ब लन द करन लग ज ब ल स न ह ल, सत श र अक ल ज झ र स ह शत र स न क ब च घ र गय क न त उन ह न व रत क ज हर द खल त
  • जन म 1630 2 19 : श व ज मह र ज क जन म 1630 : स 1631 तक मह र ष ट र म अक ल 14 मई 1640 : श व ज मह र ज और स ईब ई क व व ह 1646 : श व ज मह र ज न प ण
  • प 484 - 485. 3 ज न 1947 य जन क घ षण क ब द, म ख य स ख स गठन, श र मण अक ल दल न इस उल ल ख क स थ एक पर पत र व तर त क य थ क प क स त न क मतलब ह
                                     
  • अन ष ठ न ब द ह गय और द वत ओ क शक त भ क ष ण ह न लग ज सक क रण एक भय कर अक ल पड क स भ प र ण क जल नह म ल जल क अभ व म वनस पत भ स ख गय अत
  • ह अम र क म कद द नक क श क पर पर क पहल करन म ज न ज त ह मह न अक ल Great Famine आयर श आप रव स क अवध सब ज ल लट न क पर पर क स क ट श नक क श
  • ल य क छ इत ह सक र कहत ह क ऐस इसल ए थ क य क उस समय मक क म एक अक ल थ और अल क प त क समर थन करन क ल ए एक बड पर व र थ ह ल क अन य
  • क प रकट करण क प स तकम क गई भव ष यव ण य क अन स र आपद ए आए ग ज क अक ल भ कम प और य द ध क र प म ह ग ह ल क प थ व प र तरह स नष ट
  • गय थ श खर ज न वर ष तक श सन क य 132 - 102 ईस व प र व तक श खर ज क अक ल म त य ह न क पश च त मह र ज ग धर वस न क र ज य क स रक ष क ल ए तप छ ड कर
  • स य क त र ज य अम र क म द र क ब द, एडम स न इथ य प य क य त र द श म अक ल प ड त क सह यत पह च न क ल ए क एडम स य र प व पस गय र क ग यक ट न
  • क इ डन स न मक च र ट क भ स स थ पक और अध यक ष थ ज सन श र म अफ र क म अक ल प ड त क अपन सहय ग प रद न क य थ और अब ब लकन स, इ ड न श य और ईर क म
  • Form Music Video ज त स भ आग न कल गय सन 1985 म ब व न ईथ य प य ई अक ल - प ड त क सह यत क ल य आय ज त एक बह - स थल ल भ क र यक रम, ल इव एड Live
  • सम ह न स च ई क तकन क व कस त कर ल और इस क ष त र म अक सर पड न व ल अक ल स स रक ष त रहन क ल ए व ग द म क अन ज स भरकर रखत थ प र रम भ क वर ष

शब्दकोश

अनुवाद