पिछला

ⓘ भाट, जाति. भाट या भटट एक ब्राह्मण जाति है। जोकि महर्षि कवि के वंशज है, इसी संदर्भ में महर्षि सूत, मागध और वंदीजन भी है जोकि समान उपमा का प्रयोग करते हैं किंतु ब ..


                                     

ⓘ भाट (जाति)

भाट या भटट एक ब्राह्मण जाति है। जोकि महर्षि कवि के वंशज है, इसी संदर्भ में महर्षि सूत, मागध और वंदीजन भी है जोकि समान उपमा का प्रयोग करते हैं किंतु बही भाट, बंजारा भाट भी इस प्रसिद्ध शब्द का बहुतायत से प्रयोग करते हैं जबकि इनसे भट्ट ब्राह्मणों का संबंध अभी तक सिद्ध नही हो सका है, फिर भी एकदम भट्ट ब्राह्मण, बंजारा भाट और बही भाट अलग समझे जा सकते हैं,

1. बही भाट - इनका कार्य वंश लेखन है और यह अलग समुदायों के अलग होते हैं, उदाहरण: अलग जातियों के बही लेखक अलग बिरादरी के होते हैं, यह एक व्यवसाय है जिसे यह लोग पीढ़ी दर पीढ़ी करते आ रहे हैं,राजस्थान मे कई प्रकार के बही भाट पाये जाते हैं.

2. बंजारा भाट यह खानाबदोश हैं इनका मुख्य कार्य भिक्षाटन और नाच गाकर भीख मांगना है, बंजारा समुदाय का ही यह एक भाग है,यह मुख्यतः राजस्थान में पाये जाते हैं जहां इसे खानाबदोश का दर्जा प्राप्त है.

3. भट्ट समुदाय - भट्ट ब्राह्मण यानि वैदिक भट्ट जोकि राज पुरोहित या राजगुरु के रूप में पूजनीय हैं, यह समुदाय कश्मीर, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, उड़ीसा, पश्चिम बंगाल, गुजरात, महाराष्ट्र आदि में बहुतायत मे पाये जाते हैं, प्रायः सभी रियासतों में इनकी आबादी बेशक दो चाघर हों किंतु मिलते हैं, कहा जाता है राजा बिना इनके परामर्श के कोई भी राज कार्य नही करते थे, एक अन्य वार्ता यह दक्षिणा स्वीकार करते थे किंतु दान नही, वीर रस के काव्यों की रचना भी इनका एक मुख्य कार्य था, । आर्यभट्ट, बाणभटट, चाणक्य, चंदरबरदाई, झासी की महारानी, चंपारण आंदोलन के शिरमोर राजकुमार शुक्ल, भूतपूर्व राष्ट्रपति डाँ शंकर दयाल शर्मा जी, कवि शिरोमणि पंडित नारायण प्रसाद बैताब जी आदि इस समुदाय के महान महापुरुष रहें हैं.

                                     
  • भ ट अथव भट ट भ रत और प क स त न क र जप त कब ल ह भ ट र जप त ज स बरगल भ कह ज त ह च द रव श म ल क ह न क द व करत ह भ ट कब ल द व र
  • ग र म भ ट पचल न बड नगर तहस ल क सबस बड ग व ह ग र म भ ट पचल न र न ज और ख चर द क ब च स थ त ह वर ष 2011 क जनगणन क आन स र यह क जनस ख य
  • ह द ओ म ब र ह मण, र जप त, मह जन, स थ र, क यस थ, ज ट, च रण, भ ट स न र, दर ज ल ह र, ख त बढ ई क म ह र, त ल म ल न ई, ध ब ग ज जर, क जर, अह र
  • भ ट य प ज ब स ख और ह न द ओ क ज त ह र जप त म ल क भ ट क भ ट य और भट ट क न म स ज न ज त ह भ ट य ल ग प क स त न क क छ भ ग सह त प ज ब ग जर त
  • क स दर भ म और ज त य ज त - ब र दर क र प म ज त व यवस थ क उल ल ख ह ज त ब र ट श औपन व श क य ग क द र न व श ष र प स ज त व यवस थ क र प व कस त
  • म स ल म ज त व सद म म ख यत: इस ज त क ल ग न म स ल म धर म क स व क र कर ल य य अपन म ल ह द धर म क म नत ह ह द ओ म भ पट ल ज त प ई
  • ह त ह इसक गणन ज व र - भ ट क क रण ह न व ल सम द र सतह क उत र चढ व क ल ब समय तक प र क षण करक उसक औसत न क ल कर क ज त ह इस सम द र तल स ऊ च ई
  • म ख य व यवस य रह ह इस ज त क ल ग भ इस व यवस ई स ज ड ह ए ल ग ह र ब र उत तर भ रत क एक प रम ख एव प र च न जनज त ह भ ट च रण और वह व च ओ क ग र थ
  • र जस थ न क सबस बड ज ल ह स वत त रत स प र व यह पर भ ट र जप त क र ज य थ इसक स थ पन भ ट र ज ज सल न 1178 ई. म क थ ज सलम र क र जस थ न
  • पश च म त तर द श स भ ट ज त क आगमन प र रभ ह आ एव इस ज त न स थ न य ज त य स स घर ष कर ध र - ध र सम च क ष त र क अपन अध क र म करक भ ट र ज य क स थ पन
  • एव ऐश वर य क अत श य क त प र ण वर णन क य गय ह यह स ह त य म ख यत र व भ ट च रण कव य द व र रच गय इन रचन ओ म ऐत ह स कत क स थ - स थ कव य द व र
                                     
  • भट ट अथव भ ट य क नगर ह भ रत क पश च म म स थ त ह न क क रण इस पश च म क प रहर भ कह ज त ह यह स थ त भटन र द र ग 285 ईस म भ ट व श क
  • प रत ष ठ त द व स ज त न व स करत ह ज सक इत ह स अन ख ह ज न र भ क, स व भ म न और स दग म ज वन य पन करन व ल ल ग ह इस ज त क बस न क श र य
  • स थ पन भ रत य इत ह स क मध यक ल क प र र भ म ई. क लगभग यद व श भ ट क व शज र वल - ज सल द व र क गई थ र वल ज सल क व शज न यह भ रत क गणत त र
  • रहत ह इस ग व म र जप त भ ट और म स लम न श ख म घव ल, और क म ह र ज त क ल ग न व स करत ह इन ल ग क धर म और ज त अलग ह न क ब वज द इनम भ ईच र
  • ड म ज त क म नत ह ए ल ख ह क ड म न च ज त नह थ वरन कल व त, ढ ढ भ ट ड म आद ग नव द य प रव ण ज त य क ह न म ह म श रब ध ओ न भ इन ह
  • ग र थकर त न मत र म इत य द ब र ह मण क ल ख थ क व असन क मह प त र भ ट ह इस तरह क बह त स ब त द ख कर म झस च प नह रह गय म न स च
  • प रय ग भ म लत ह यह ग रन थ र जस थ न क र जप त ज त यह क स म ज क स रचन आक र त ओ स स घर ष, ज त - प रथ ध र म क म न यत ए भ ग ल क स थ त और स स क त क
  • ज स जलचक र, जल टरब इन ख पवन ऊर ज पर आध र त, ज स पवनचक क ग ज व र - भ ट क शक त स चलन व ल टरब इन आद सरल मश न मश न औज र ऊष म इ जन व द य त मश न
  • व शज ह ज एक ऐत ह स क च द रव श क षत र य र ज थ अह र क एक ज त वर ण, आद म ज त य नस ल क र प म वर ण त क य ज त ह ज न ह न भ रत व न प ल क
  • स ब जल क उपय ग र प म पर वर त त करत ह सम द र म आन व ल ज व र - भ ट क उर ज क उपय क त टर ब इन लग कर व द य त शक त म बदल द य ज त ह इसम
  • र व उमर वस ह भ ट भटन र र य सत क र ज थ इनक जन म सन 1832 म द दर उ.प र क न कट ग र म कट हड म र व क शन स ह भ ट क प त र क र प म ह आ थ सन
                                     
  • य दव अलवर ज ल म रतल म मध य प रद श म और ब क न र क भ ट र जस थ न ख द क र जप त ज त क स थ क स ज ड त ह ह ल क यह स भव ह क व द श मनगढ त
  • उत तर खण ड म फ ल ह ए ह 11प ढ य क ब र म प र न ज म न क ज गर ग यक और भ ट स एकत र ज नक र क आध र पर क वल एक एक न म उपलब ध ह 12व प ढ म च र
  • बड व ज ग और भ ट इन त न ज त य क र व ज और बड व ज भ कहत ह और म ख य र प स र जस थ न मध यप रद श, ग जर त, छत त सगढ आद र ज य म न व स करत
  • पम प ज थम म ज ब द ध भ ट क स वय भ अध क र थ उस क ष त र म द र - द र तक उसक आ तक थ ओर डर क म र ल ग उसक ह क म उठ त थ इस पम म ज ब द ध भ ट न PRATIHAR
  • करत ह श य मनगर - यह ग व ह प ड क सम प ह यह म ख यत ग र जर सम द य क भ ट ग त र ग व ह एवम प ल सम द य क ल ग भ क ष करत ह यह एक प वर स ट शन
  • क क रण पड ज ल ड म क फ ज त य रहत ह ज स प ल व ल, र वल त, स हड भ ट ड ड य र प वत, म स ल म, स थ र, न ई, ढ ल क म ह र, म घव ल, भ ल, ज ग ब श न ई, ज ट
  • तरह स स गठ त स च र व यवस थ नह थ जन - स ध रण म ज त य क अपन - अपन न ई, स वक, च रण य भ ट ह प र व र क स द श क आद न - प रद न करत थ ऐस स द श
  • भ रत क एक म स ल म प रम ख ज त ह भ रत क अल व प क स त न स ध न प ल म भ न व स करत ह ल क न भ रत क लगभग सभ भ ग म प ई ज त ह उत तर प रद श, व ह र

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →