पिछला

ⓘ प्रवीण कुमार द्विवेदी भारतीय दर्शन, संस्कृत-साहित्य एवं इतिहास के जाने-माने विद्वान् हैं। प्रवीण कुमार द्विवेदी ने वीरशैव के धार्मिक ग्रन्थ सिद्धान्तशिखामणि का ..


                                     

ⓘ प्रवीण कुमार द्विवेदी

प्रवीण कुमार द्विवेदी भारतीय दर्शन, संस्कृत-साहित्य एवं इतिहास के जाने-माने विद्वान् हैं।

प्रवीण कुमार द्विवेदी ने वीरशैव के धार्मिक ग्रन्थ सिद्धान्तशिखामणि का भोजपुरी-भाषा में अनुवाद किया है, जो शैवभारती शोध संस्थान, जंगमवाड़ी मठ, वाराणसी से प्रकाशित है। इन्होंने वागुल्लास प्रथम भाग नामक ग्रन्थ का सह-सम्पादन भी किया है। इन्होंने ‘अग्निपुराण: शिवतत्त्वविमर्श’, ‘वीरशैवदर्शन में चैतन्य का स्वरूप’, ‘काश्मीरशैवमत और वीरशैवमत का तुलनात्मक अध्ययन’ ‘संस्कृत वाङ्मय में राष्ट्रवाद का स्वरूप’ आदि विषयों पर विभिन्न विद्वानों द्वारा सम्पादित पुस्तकों में अध्याय लिखा है। इनके ‘भारतीय शैवागमिक पर्यालोचन’, ‘वीरशैवदर्शन में नारी की अवधारणा’, ‘वैदिककालीन उद्योग एवं व्यवसाय’ ‘देवताविषयक वैज्ञानिकत्व’, ‘धार्मिक चिन्तन एवं वेद: वीरशैवमत के सन्दर्भ में’, ‘वीरशैवदर्शन में षड्-स्थल सिद्धान्त’ आदि विषयक शोधपत्र भी पत्रिकाओं एवं ग्रन्थों में प्रकाशित हैं। इनके निबन्ध ‘रामकथाभिषिक्त कुछ शिवात्मक परिदृश्य’, ‘विदेशों में उपेक्षित आयुर्वेद की पाण्डुलिपियाँ’, ‘प्राचीन भारतीय शल्य-प्रक्रिया में आचार्य सुश्रुत का योगदान’, ‘महाभारत में हैं नगर-स्थापत्य के उदाहरण’, ‘कौटिल्य अर्थशास्त्र में है मुद्रा के प्रमाण’, ‘भारत और इण्डोनेशिया का आत्मिक सम्बन्ध’, ‘सनातन परम्परा में वीरशैव अथवा लिङ्गायत सम्प्रदाय’, ‘संस्कृत वाङ्मय में कृषि’, ‘संस्कृत वाङ्मय में जल का स्वरूप’, ‘गुरुकुलीन शिक्षा पद्धति’, ‘भारतीय संस्कृति में सुरक्षासम्बन्धी चिन्तन’, ‘संस्कृत वाङ्मय में दूतकाव्य’, ‘संस्कृत वाङ्मय में वंशावलीविज्ञान’, ‘मूर्तियों में भाव-सम्प्रेषण’, पुस्तकों की उपयोगिता भी कई पत्रिकाओं में प्रकाशित हैं।

इन्होंने भारत के विभिन्न भागों में प्रायः 10 अन्तरराष्ट्रीय सम्मेलनों, 20 राष्ट्रीय सम्मेलनों तथा 7 राष्ट्रीय कार्यशालाओं में सफलतापूर्वक भाग लेकर अपने शोधपत्रों को प्रस्तुत किया है। इन्होंने शिवाद्वैतमञ्जरी, शिवाद्वैतदर्पण और शिवाद्वैतपरिभाषा नामक शैवदर्शन के संस्कृत ग्रन्थों का हिन्दी अनुवाद पूर्ण कर लिया है जो प्रकाशनाधीन है। ये सम्प्रति ‘ब्रह्मसूत्रश्रीकरभाष्य’ का हिन्दी अनुवाद कर रहे हैं।

                                     
  • न बन धक र तथ म र द धन य स स क त क - ऐत ह स क उपन य स ल खक हज र प रस द द व व द क प र य श ष य रह अत यध क अध ययनश ल तथ व च रक प रक त क न मवर स ह
  • स व ध नत स ग र म क क र न त क र स ह त य क इत ह स. 1 1 स स करण नई द ल ल प रव ण प रक शन. प 84. आई ऍस ब ऍन 81 - 7783 - 119 - 4. भ रत य स वत त रत स ग र म ख द
  • आच र य हज र प रस द द व व द एव ड र मव ल स शर म क र जकमल प रक शन स ज ड न म अहम भ म क न भ य आच र य हज र प रस द द व व द क प स तक च र चन द रल ख
  • प रस द द व व द क उपन य स म ज वन दर शन - म ज स रस वत हज र प रस द द व व द क उपन य स म स स क त क ब ध - स ज व भ न वत हज र प रस द द व व द क एत ह स
  • भट ट क आत मकथ - हज र प रस द द व व द ब णभट ट क स घर ष - क ष ण भ व क ब णभट ट क आत म कथ - हज र प रस द द व व द ब त एक औरत क - क ष ण अग न ह त र
  • म ण ल प ड आदर श क र य लय पद धत - मन न ल ल द व व द आदर श क र य लय पद धत - मन न ल ल द व व द आदर श न र य - आच र य चत रस न आदर श पत र ल खन
  • स व ध नत स ग र म क क र न त क र स ह त य क इत ह स. 2 1 स स करण नई द ल ल प रव ण प रक शन. प आई ऍस ब ऍन 81 - 7783 - 120 - 8. अभ गमन त थ अप र ल
  • रहत थ अश क क ब र म कह ज त ह क व बचपन स स न य गत व ध य म प रव ण थ द हज र वर ष क पश च त सम र ट अश क क प रभ व एश य म ख यत भ रत य
  • कल - अभ नय - फ ल म स मह र ष ट र श र उद धव क म र भ र ल व ज ञ न और इ ज न यर ग - ग र सर ट स इन व शन असम श र ओम श क म र भ रत म ड स न - र ब ज ह म चल प रद श श र
  • रह ह प रव ण र य मह र ज इन द रज त स ह क दरब र म थ मह र ज इन द रज त स वय ध रज नर न द र उपन म स कव त करत थ प ग र श कर द व व द न इनक
  • वर णन करत ह ए उन ह य न न और ब ब ल न यन ज य त र व द क अप क ष अध क प रव ण और स गणन क उनक बह म ल य तर क क वर णन त त बत य ह और उसक ब द
  • उप ध प र प त क क ल ज म आपन प जगद श शर म स ह त य च र य, प ग ग धर द व व द तथ आश कव हर श स त र स स ह त यश स त र क अध ययन क य यह पर आपन
                                     
  • ट स ज त और म द न क ल ए च न आत श श गव न, व ज श प रभ द स ई ग व और प रव ण द ब कर न टक न सभ ट - 20 क श र आत क क रल न ट स ज त ल य और म द न
  • श स त र क भ ज ञ न प र प त क य थ वह सङ ग त कल और च त र कल म भ प रव ण थ प थ व र ज र स क व य म उल ल ख ह क धन र व द य म प र गत प थ व र ज
  • द पक ड बर य ल, अजय घई, उर म ल म त डकर सह ध ध गलत बन द ह स य प रव ण डब स प रव ण डब स, शरत सक स न व श भ रद व ज, अन पम ख र, आश ष नय यर, क लद प र ह ल
  • मई 2019 TBD 61 बस त अन रक ष त हर श द व व द भ रत य जनत प र ट 12 मई 2019 TBD 62 सन त कब र नगर अन रक ष त प रव ण न ष द भ रत य जनत प र ट 12 मई 2019 TBD
  • ब ह र र ल म त र भ रत य र ष ट र य क ग र स आनन द म र ग क सदस य र जन द व व द स त ष न द अवध त, स द वन द अवध त और ग प ल आनन द म र ग क स थ पक प रभ त
  • प ज ब 10 25 India आद त य त र द ल ल ड यरड व ल स 20 25 India एकलव य द व व द सनर इजर स ह दर ब द 30 75 India अन क त च धर र यल च ल जर स ब गल र 10

शब्दकोश

अनुवाद