पिछला

ⓘ सभ्यता-संवाद, सभ्यता अध्ययन केन्द्र, दिल्ली की त्रैमासिक शोध-पत्रिका है। जनवरी, 2019 से इसे नियमित प्रकाशित किया जा रहा है। इसमें हिंदी-भाषा में लिखित उच्च कोटि ..

                                     

ⓘ सभ्यता-संवाद

सभ्यता-संवाद, सभ्यता अध्ययन केन्द्र, दिल्ली की त्रैमासिक शोध-पत्रिका है। जनवरी, 2019 से इसे नियमित प्रकाशित किया जा रहा है। इसमें हिंदी-भाषा में लिखित उच्च कोटि के गवेषणात्मक, आलोचनात्मक तथा समीक्षात्मक शोध-निबन्ध प्रकाशित किए जाते हैं। भारतीय दृष्टि से भारतीय नीतियों, समस्याओं, इतिहास, राजनीति, समाजशास्त्र, आदि पर सन्दर्भयुक्त तर्कपूर्ण तथा तथ्यात्मक शोध-आलेख ही इसमें आमन्त्रित किए जाते हैं। जाने-माने इतिहासकाऔर पत्रकार रवि शंकर इसके सम्पादक तथा इतिहासकार गुंजन अग्रवाल इसके कार्यकारी सम्पादक हैं।

सभ्यता-संवाद का फेसबुक-पेज

                                     
  • 2000 द स समय म स ह त य 2002 ह न द नवज गरण और स स क त 2004 सभ यत स स व द 2008 र मव ल स शर म 2011 भ रत य अस म त और ह न द 2012 कव
  • स क त ह प र च न सभ यत म हड प प क म ज दग क भ प रम ण ह झ रख ड क कई ज ल म इस तरह क स ईट और अवश ष ह झ रख ड क इत ह स स व द झ रख ड क इत ह स
  • क स भ ज त प रज त य सभ यत क अस त त व क ल ए भ ष अपर ह र य ह इस व ण क अन स र सभ यत क व क स क म पन क ल ए सभ यत क भ ष स ह त य क म पन
  • स स थ न म क म क य ह अपन प स तक आध न क व ज ञ न क जन म म सभ यत ओ क स व द The Dialogue of Civilizations in the Birth of Modern Science म
  • क न र क न द र त प र व उत तर अफ र क क एक प र च न सभ यत थ ज अब आध न क द श म स र ह यह सभ यत 3150 ई.प क आस - प स, प रथम फ र क श सन क तहत ऊपर
  • य न न सभ यत क म नव करण क य इनस प र व, कभ क स य न न द र शन क न मन ष य क सभ यत एव स स क त क न र म त नह समझ थ एक यन सभ यत म ज सक
  • गहर सभ यत व मर श ह व स तव म ह न द स वर ज म मह त म ग ध न ज भ कह ह वह अ ग र ज क प रत द व ष ह न क क रण नह बल क उनक सभ यत क प रत व द
  • आय ज त श सन अन त व यक त गत स व द intrapersonal communication सह त द नचर य य स वय व र त ल प क म ध यम स स वत स व द autocommunication क अवह लन
  • च क ष ष कल ए और र गम च क अन भव, अभ न त अभ न त र य और ध वन श स त र स व द स ग त आद श म ल ह आध न क तकन क क उपलब ध य क स ध ल भ स न म ल त
                                     
  • ह वह प रश सन य ह स स न र क श र षक कह न क स व द म ह वर - ल क क त य म चलत ह यह स व द न क वल कथ क र चक तथ सरस बन त ह अप त ह न द क
  • ज य द तर यह ब रह स वर इस तम ल क य ज त ह प र तन क ल स ह भ रत य स वर सप तक स व द - स द ध ह महर ष भरत न इस क आध र पर श र त य क प रत प दन क य थ
  • न य त र त क य 7 व शत ब द म म अरब ल ग इस क ष त र म आए ज सक उनक सभ यत न भ प रव श क य स थ ह इस ल म धर म क भ प रच र ह आ 15 व शत ब द म
  • महत वप र ण म न गए ह कथ वस त प त र अथव चर त र - च त रण, कथ पकथन अथव स व द द शक ल अथव व त वरण, भ ष - श ल तथ उद द श य कह न क ढ च क कथ नक अथव
  • व य प र क म ख य क द र थ आज अन क पर यटक इसक स दर सम द र तट और तत क ल न सभ यत क झलक प न क ल ए यह आत ह क वल पर यटन क द ष ट स ह नह बल क
  • ज न व ल स मग र य ज स क त त और पतल ट कड भ क ष ठ ह कहल त ह सभ यत क आर भ स ह म नव लकड क उपय ग कई प रय जन ज स क ई धन जल वन और न र म ण
  • न ष ठ क प रत प दक ह इस उपन षत म ऋष अ ग र क श ष य श नक और ऋष क स व द क र प म द ख य गय ह इसम 64 म त र ह - 21, 21 और 22 क त न म डक
  • ह व द व न क मत ह क य आध र स ध सभ यत क ब द इस द श म च ल ह ए ह ग क य क उस प र च न सभ यत म ज म प म ल ह उनक आध र दशमलव प रण ल
  • प त क छ - क छ स थ त य म स म र ज यव द भ ष क उपय ग स व द क बढ व द न क स थ न पर स व द क हनन करन क ल य भ क य ज त ह श क ष म व द श भ ष
                                     
  • प र र भ म पर यटन क ल ए द च न त य थ 2001 क व षय पर यटन: सभ यत ओ क ब च श त और स व द क ल ए एक उपकरण थ 2002 क व षय पर य वरण पर यटन सतत व क स
  • व द क स ह त खण डक ह व द स व क रत ह व द क धर म और सभ यत क जड म सन स रक सभ सभ यत क स न क स र पम द ख ई द त ह आद म ह न द - अव स त धर म
  • क छ ह दशक स आरम भ ह आ ह म नव जब भ क स नय व क रण क पत लग त ह सभ यत म एक क र न त आ ज त ह व द य तच बक य व क रण क वर ग करण आव त त क
  • पह चत ह जह क अध ष ठ त र इड थ इड क स थ व एक नई व ज ञ न क सभ यत क न य जन करत ह पर उनक मन क म ल अध कर क ल पस अभ गई नह ह व
  • व श व क स तव सबस बड द श ह भ रत क स स क त एव सभ यत व श व क सबस प र न स स क त एव सभ यत ओ म स ह भ रत, च र व श व धर म - ह द धर म, स ख धर म
  • द ष ट क ण क अन स र स न ध घ ट सभ यत क ल ग स वय ह आर य थ और उनक म लस थ न भ रत ह थ आर य क सभ यत क व द क सभ यत कहत ह पहल द ष ट क ण क अन स र
  • ह ल क इत ह सक र क म न त ह न द धर म क प र रम भ स न ध घ ट क सभ यत वर ष प र व सम न तर उपर त स कह ज त ह वह ग र थ म ल ख त
  • द य क वल यह नह उसन र ग स त न क अनपढ ल ग क ऐस सभ य बन द य क प र व श व पर इस सभ यत क छ प स स कड वर ष ब द भ इसक न श न पक क म लत
  • प र रव और उर वश आद क क छ स व द ह इन स व द म ल ग न टक क व क स क च ह न प त ह अन म न क य ज त ह क इन ह स व द स प र रण ग रहण कर ल ग
                                     
  • प रस द ध य कल प त कथ क आध र पर न ट यक र द व र रच त र पक म न र द ष ट स व द और क र य क अन स र न ट यप रय क त द व र स ख ए ज न पर य स वय नट अपन
  • स व द ह ज भ रत क वर तम न र जन त क पर स थ त और उसम व य प त समस य ओ क द ष ट स अत य त महत वप र ण ह अध य य 24 म एक जगह र ह ण - न द स व द व श ष
  • आर य भ रत आए और उन ह न उत तर भ रत य क ष त र म व द क सभ यत क स त रप त क य इस सभ यत क स र त व द और प र ण ह क न त आर य - आक रमण - स द ध त अभ

शब्दकोश

अनुवाद